Published On : Sat, Mar 24th, 2018

सपा-बसपा का मेल अटूट, राजनीति में कम तजुर्बेदार हैं अखिलेश; कुंडा के गुंडा राजा भैया से सचेत रहने की जरूरत : मायावती

Mayawati
लखनऊ: यूपी राज्यसभा चुनाव में बीएसपी प्रत्याशी को मिली हार के बाद शनिवार को बीएसपी सुप्रीमो ने मायावती ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान उन्होंने बीजेपी पर विधायकों की खरीद फरोख्त का आरोप लगाया। मायावती ने कहा कि राज्यसभा चुनाव में बीजेपी ने पूरी तरह से धनबल और सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग किया है। विधायको को ED और CBI के नाम पर डराया गया है। बीजेपी ने ये सब इसलिए किया जिससे सपा और बसपा के बीच एक बार फिर से दूरी हो। उन्होंने कहा कि मैं साफ कर देना चाहती हूं कि सपा-बसपा का मेल अटूट है। बीजेपी का मकसद सिर्फ सपा-बसपा की दोस्ती को तोड़ना चाहती है। हमें राज्यसभा में RLD का वोट नहीं मिला।

– उन्होंने कहा कि हम बीजेपी के खिलाफ लड़ते रहेंगे। मैं उन सभी विधायकों के हिम्मत की बधाई देती हूं जिन्होंने बीजेपी के डर से क्रास वोटिंग नहीं की। सपा और बसपा के विधायकों को वोट डालने से रोका गया। बीजेपी ने विधायकों पर पुलिस का खौफ दिखाकर धमकाया। जिससे उन्होंने डरकर बीजेपी के पक्ष में वोट डाला।
– मायावती ने कहा कि हमारी पार्टी के एक विधायक अनिल सिंह ने धोखा दिया जिसे हमारी पार्टी ने निलंबित कर दिया है। वहीं, सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के विधायक कैलाश नाथ सोनकर ने अपनी अंर्तमा की आवाज पर बसपा को वोट दिया।

अखिलेश को बताया कम तजुर्बेदार

– सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को मायावती ने कम तजुर्बेदार बताया। उन्होंने कहा कि अखिलेश को सचेत होकर कुंडा के गुंडा कहे जाने वाले राजा भैया पर भरोसा करना सही नहीं है। अगर वो उस पर भरोसा नहीं करते और रणनीति पर काम करते तो आज परिणाम दूसरे होते। अभी वो राजनीति में नए हैं धीरे-धीरे मजबूत होंगे।

– राज्यसभा के परिणाम के बाद बीजेपी वालों ने रात में खूब लड्डू खाए होंगे उनकी आज नींद मेरी प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद उड़ जाएगी।
– बीएसपी अगर बीजेपी के साथ गठबंधन करे तो वह बहुत सही लेकिन किसी अन्य के साथ करे तो बहुत गलत है। बीजेपी की मानसिकता यह है कि, आज कल गेस्ट हाउस कांड को याद दिलाते हुए घूम रहे हैं।

गेस्ट हाउस कांड से अखिलेश को जोड़ना उचित नहीं
– मायावती ने कहा कि गेस्ट हाउस कांड को अखिलेश से जोड़ना उचित नहीं क्योंकि जब यह कांड हुआ था तब अखिलेश जी राजनीति में नहीं थे। बसपा और सपा का ये मेल अटूट है। उन्होंने कहा कि बीजेपी की योगी सरकार ने जिस पुलिस अधिकारी के सामने यह कांड हुआ था उसे यूपी का डीजीपी बना दिया है। वहीं उन्होंने दावे के साथ कहा कि 2019 लोकसभा चुनाव में बीजेपी को हराने के लिए मजबूती से लड़ेगी। कांग्रेस के सभी 7 विधायकों ने बड़े ही ईमानदारी से हमारी पार्टी के प्रत्याशी को वोट दिया हम उनको बधाई देते हैं।

बीजेपी ने किया सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग

– राज्यसभा के चुनाव में सत्तारूढ़ पार्टी का खड़ा किया गया 9वां प्रत्याशी न जीत सके इसके लिए हमने उपचुनाव में सपा का समर्थन किया था। इसके एवज में सपा ने राज्यसभा के चुनाव में अपने बचे विधायकों के वोट बसपा को दिया। उपचुनाव के परिणाम के बाद बीजेपी को दिन में तारे नजर आने लगे।

– राज्यसभा के चुनाव में बीजेपी सरकारी मशीनरी का दुरुप्रयोग करने से बाज नहीं आई और राज्यसभा के चुनाव में सरकारी मशीनरी का प्रयोग किया। राज्यसभा चुनाव में दोनों दलों के बीच दूरी बढ़ाने के लिए बीजेपी ने सरकारी मशीनरी का प्रयोग करके बीएसपी प्रत्याशी को हरा दिया। बीजेपी सरकार ने धन्नासेठ को चुनाव जिताया। बीजेपी सरकार द्वारा अपने धन्नासेठ को जिताने के लिए सरकारी मशीनरी का प्रयोग किया है।

मोदी योगी पर तंज
– मायावती ने योगी को मोदी का चेला बताया। उन्होंने कहा ककि कहा कि बसपा अब अपनी नई रणनीति पर काम करेगी। भाजपा की अराजकता जारी है, इसलिए लोकसभा उपचुनाव में बसपा ने सपा का समर्थन किया।
– गोरखुपर और फूलपुर में चुनाव में मिली हार के बाद राज्यसभा चुनाव में भाजपा ने साजिश रची। भाजपा गलत काम करने से बाज नहीं आ रही है।