Published On : Thu, Jan 16th, 2020

बिना निगम सचिव के मनपा,आला अधिकारियों पर अतिरिक्त जिम्मेदारियां

– प्रभारी निगम सचिव का चंद्रपुर आयुक्त पद पर पदोन्नति,कभी भी नई जिम्मेदारी संभालने रवाना हो सकते हैं.


नागपुर : नागपुर महानगरपालिका में इन दिनों अधिकारी/कर्मचारियों का टोटा जो मनपा के रोजमर्रा के कामकाजों को प्रभावित कर रहा.इस ओर न पिछली और न ही वर्त्तमान सरकार गंभीर हैं.जबकि नागपुर राज्य की उपराजधानी हैं.वर्त्तमान में एक अतिरिक्त आयुक्त और एक उपायुक्त के कंधों पर सम्पूर्ण मनपा का कार्यभार दे दिया गया,इस क्रम में मनपा के पास निगम सचिव तक नहीं होना गंभीर हैं.

याद रहे कि मनपा के महत्वपूर्ण पद जैसे निगम सचिव,अतिरक्त आयुक्त-१,अतिरिक्त आयुक्त-३,उपायुक्त स्तर के २ पद,विकास अभियंता,जनसम्पर्क अधिकारी जैसे हज़ारों की संख्या में पद रिक्त हैं.पिछले ३ साल से मनपा में सेवानिवृत्ति का सिलसिला शुरू हैं,जरूरतानुसार आज के हिसाब से अधिकारी-कर्मी की संख्या आधी के आसपास हैं,इन्हीं के मार्फ़त मनपा का कारोबार चल रहा.

अतिरिक्त आयुक्त-२ राम जोशी और उपायुक्त मनोज मोहिते को उनके समक्ष पदों का अतिरिक्त भार दे दिया गया.मोहिते को निगम सचिव का भी जिम्मेदारी सौंप दिया गया.उधर एक अधिकारी को पूर्णकालीन उपायुक्त पद की जिम्मेदारी देने के बजाय अतिरिक्त जिम्मेदारी देकर काम चलाया जा रहा.
यह भी चर्चा हैं कि मोहिते की पदोन्नति हो चुकी हैं,उन्हें पदोन्नत कर चंद्रपुर मनपा अक आयुक्त की जिम्मेदारी भी सौंपी जा चुकी हैं.क्यूंकि चंद्रपुर के वर्त्तमान आयुक्त का तबादला होने के बाद भी किन्हीं कारणों से बने हुए हैं इसलिए मोहिते नागपुर मनपा में तैनात हैं ,जैसे ही चंद्रपुर आयुक्त का पद रिक्त होंगा,वे वहां चले जायेंगे।


उल्लेखनीय यह भी हैं कि इनदिनों मनपा आयुक्त के भी तबादले की खबर मनपा मुख्यालय में शुरू हैं.चर्चे से जो क्षण कर जो समाचार मिल रही कि वे नागपुर मनपा में काम करने को रूचि नहीं,यह भी कहा जा रहा कि वे अमरावती से नागपुर आये थे,वे वहां जिलाधिकारी थे,उन्हें अमरावती से नागपुर लेन में प्रशासन को काफी राजनैतिक दिक्कतें आई थी.

अब जबकि अमरावती के दो दिग्गज यशोमति ठाकुर और बच्चू कडु दोनों राज्य में मंत्री हैं.ठाकुर अमरावती जिले की पालकमंत्री भी हैं.दोनों के संयुक्त प्रयास से मनपा आयुक्त बांगर को पदोन्नत कर विभागीय आयुक्त या फिर अमरावती जिलाधिकारी पद पर आसीन किये जाने का प्रयास जारी हैं.अगर ऐसा संभव हुआ तो शहर में किसी धाकड़ आयुक्त को भी लाने का प्रयास स्थानीय विधायक/मंत्रियों द्वारा किया जा रहा हैं.

इसके बावजूद राज्य की नगर विकास विभाग ने नागपुर मनपा में मेगा भर्ती मुहिम शुरू नहीं की तो कामकाज के साथ कर संकलन प्रभावित हो जाएगा।