| | Contact: 8407908145 |
    Published On : Fri, Sep 11th, 2020

    आखिरकार 15 दिन बाद जागी सावनेर पुलिस, मालू पेपर मिल हादसे में कहा ‘ अभी चल रही है जांच

    नागपुर- सावनेर पुलिस स्टेशन की हद में हेटी मालू पेपर मिल की तीसरी यूनिट है. यहां काम करनेवाले नरसाला निवासी 31 साल के मजदूर संदीप केवलराम मड़के के साथ एक भीषण हादसा हो गया. मशीन की चपेट में आने के कारण उनका एक हाथ कटकर अलग हो गया. नागपुर के निजी हॉस्पिटल में उन्हें भर्ती किया गया था. इसके बाद 5 सितंबर को उन्हें हॉस्पिटल से छुट्टी मिल गई. यह हादसा कंपनी की लापरवाही के कारण हुआ था. जब संदीप अपने कुछ रिश्तेदारों के साथ मिल प्रबंधन से मिले और कहा कि उनका हाथ नही होने से उन्हें कोई हल्का फुल्का काम दिया जाए, और मुहावजा दिया जाए, तो प्रबंधन ने उल्टे उनसे ही कहा कि कंपनी 500 करोड़ के घाटे में है, तो मुहावजा और नौकरी कहा से देंगे.

    इसके बाद पुलिस की इस मामले में पुरी भूमिका ही संदिग्ध रही, सावनेर पुलिस ने इस पूरे मामले को दबाने की कोशिश की. पिछले 15 दिनों से यह मामला बजाज नगर पुलिस स्टेशन, केलवद पुलिस और सावनेर पुलिस के बीच घूम रहा था. लेकिन इस विकलांग हो चुके संदीप की सुध किसी भी पुलिस ने नही ली.

    आखिरकार शहर के एक बड़े समाचारपत्र ने जब इस मामले को उठाया तो पुलिस प्रशासन जागा और अब जाकर मिल के 2 ऑपरेटरों पर मामला दर्ज किया गया है. हालांकि सावनेर पुलिस ने बताया था कि इस मामले में मालिक से भी पूछताछ की जाएगी, लेकिन अभी तक प्रबंधन के किसी भी बड़े अधिकारी से पुलिस द्वारा पूछताछ नही करना भी कई सवाल खड़े करता है.

    इस पूरे मामले में ‘ नागपुर टुडे ‘ ने जब सावनेर के पुलिस निरीक्षक अशोक कोली से बात की तो उन्होंने बताया कि अब तक इस मामले में 2 ऑपरेटरों पर मामला दर्ज किया गया है. इस मामले की जांच की जा रही है. उन्होंने कहा कि आज हम मिल गए थे, छानबीन के लिए, लेकिन मैनेजर नही होने से उससे बातचीत नही हो पायी.

    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145