Published On : Mon, Apr 16th, 2018

हर हायर एजुकेशन इंस्टिट्यूट में बनाया जाएगा ‘लाइब्रेरी क्लब’

नागपुर: देश में स्टूडेंट्स के बीच रीडिंग कल्चर को बढ़ावा देने और खास तौर से डिजिटल बुक्स पढ़ने को प्रमोट करने के लिए एचआरडी मिनिस्ट्री काम कर रही है. नैशनल ई-लाइब्रेरी को प्रमोट करने और स्टूडेंट्स को डिजिटल लाइब्रेरी के बारे में जागरुक करने के लिए हर हायर एजुकेशन इंस्टिट्यूट में लाइब्रेरी क्लब बनाया जाएगा. आईआईटी खड़गपुर इसका कॉन्सेप्ट नोट तैयार कर रहा है. जिसके बाद हर इंस्टिट्यूट में एक ही तर्ज पर यह क्लब बनेगा.

एचआरडी मिनिस्ट्री के अनुसार हायर एजुकेशन इंस्टिट्यूट में जिस तरह ड्रामा क्लब या दूसरे क्लब होते हैं उसी तरह अब लाइब्रेरी क्लब भी होंगे. यह हर कॉलेज, यूनिवर्सिटी और टेक्निकल इंस्टिट्यूट में होंगे. हम इसके लिए जल्द ही अभियान शुरू करेंगे. फिर उसके बाद जुलाई से लेकर सितंबर तक हर इंस्टिट्यूट में लाइब्रेरी क्लब बनाए जाएंगे. कोशिश रहेगी कि सितंबर तक हर हायर एजुकेशन इंस्टिट्यूट में लाइब्रेरी क्लब बन जाएं. आईआईटी खड़गपुर कॉन्सेप्ट में बताया कि यह क्लब किस तरह बनेगा और किस तरह इसे चलाया जाएगा. इसे चलाने को लेकर जो भी खर्च आएगा उसका इंतजाम किस तरह किया जाएगा.

इन लाइब्रेरी क्लब के जरिए सिर्फ डिजिटल बुक्स को प्रमोट किया जाएगा. एचआरडी मिनिस्ट्री ने नेशनल ई-लाइब्रेरी बनाई है. जिसमें रिलीजन, लैंग्वेज, साइंस, मैथ्स, सोशलसाइंस, टेक्नॉलजी, हिस्ट्री, लिटरेचर सहित लगभग हर सब्जेक्ट की लाखों किताबें हैं. नैशनल ई-लाइब्रेरी को लगभग सभी बड़े इंस्टिट्यूट की लाइब्रेरी से भी जोड़ा गया है. इसका मकसद है कि किसी भी स्टूडेंट्स की कहीं दूर बैठकर भी किताब तक पहुंच बनी रहे. शुरू में इसे स्टूडेंट्स के लिए ही रखा गया था लेकिन अब कोई भी इसमें लॉगइन कर किताबें पढ़ सकता है. मिनिस्ट्री के मुताबिक लाइब्रेरी क्लब में मेंबर्स डिजिटल बुक के बारे में चर्चा करेंगे. जैसे मेंबर्स बताएंगे कि वह कौन सी किताब पढ़ रहे हैं और उसमें क्या है. इससे दूसरों में भी डिजिटल बुक को लेकर रीडिंग हैबिट को प्रमोट किया जा सकेगा.