Published On : Mon, May 1st, 2017

4 करोड़ वृक्षारोपण के लिए ‘चांदा से बांदा’ चित्ररथ का शुभारंभ


नागपुर:
अनेक पर्यावरणीय समस्याओं से निपटने के लिए वृक्षों की संख्या में इजाफा एक मात्र है। पर्यावरण संतुलन बिगड़ने से बेमौसम बारिश से लेकर पीने के पानी की कमी जैसी कई अन्य समस्याएं पेश आ रही हैं। लिहाजा मौसम और पर्यावरण के संतुलन को बनाए रखने के लिए बड़े पैमाने पर वृक्षारोपण अभियान खड़ा करना जरूरी है। इसी मकसद से राज्य सरकार के वन विभाग की ओर से महाराष्ट्र दिन के अवसर पर वृक्षारोपण के लिए प्रेरित करनेवाली चित्ररथयात्रा का शुभारंभ किया है। 1 मई से 30 जून 2017 तक चलनेवाली यह चित्ररथ यात्रा चंद्रपुर जिले के चांदा से शुरू होकर सावंतवाड़ी के बांदा तक चलेगी। वन मंत्री सुधीर मुनगंटीवार के हाथों चंद्रपुर में इस चित्ररथ को हरी झंडी दिखाकर शुभारंभ किया गया। यह चित्ररथ ना केवल वृक्षारोपण के लिए आम अपील करेगी बल्कि वृक्षारोपण के लिए तैयार की जा रही ग्रीन आर्मी अर्थात हरित सेना के सदस्यों का भी पंजियन अपने पूरे दौरे के दौरान करेगी।

बता दे कि 1 जुलाई 2016 को वन दिवस के दिन एक साथ 2 करोड़ वृक्षों को लगाया गया था। हेलो फॉरेस्ट व हरित सेना जैसे उपक्रम भी विभाग की ओर से वृक्षारोपण अभियान को बल प्रदान कर रहे हैं। वर्ष 2017-18-19 में क्रमश: 4 करोड़, 13 करोड़ व 33 करोड़ ऐसा कुल मिलाकर 50 करोड़ पेड़ों को लगाने का लक्ष्य रखा गया है। इस वृक्षारोपण अभियान को व्यापक बनाने के लिए चित्ररथ यात्रा का आयोजन किया जा रहा है। यह चित्ररथ इन दो महीनों में राज्य के हर जिलों में पहुंचकर वृक्षारोपण के लिए जनजागरण का काम करेगी।