Published On : Thu, Sep 2nd, 2021

नागपुर शहर के नंदनवन पोलिस स्टेशन को जानिये

भाग 25: नंदनवन पुलिस स्टेशन

नंदनवन पोलिस स्टेशन , नागपुर शहर

नागपुर टुडे : 24 जनवरी, 2008 को सक्करदररा पुलिस स्टेशन को विभाजित करके नंदनवन पुलिस स्टेशन की स्थापना की गई थी। आज वर्तमान में नंदनवन पुलिस स्टेशन का नेतृत्व वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक (पीआई) मुख्तार दाउद शेख (1995 बैच) कर रहे हैं। जनाब. मुख्तार शेख एक नर्ममिजाज और सख्त पुलिस अधिकारी के रूप में जाने जाते है उन्होंने अबतक के अपने पुलिसिया जीवन मे अनेक जटिल अपराधों की तह तक जाकर उनका पर्दाफाश कर पुलिस विभाग का नाम रोशन किया है । नंदनवन पुलिस स्टेशन कुल 111 पुलिस कर्मचारियों और 11 पुलिस अधिकारियों के साथ काम करता है।

नंदनवन पुलिस स्टेशन के हद में वाठोडा चौक – मंगलमूर्ति चौक (पुर्व से पश्चिम ) और गंगाबाई घाट चौक – दिघोरी चौक (उत्तर से दक्षिण) शामिल है। इस समूचे परिसर में करीब 2.5 लाख की घनी आबादी बसती है, देखा जाये पूरा परिसर 8 किमी लंबे-चौड़े दायरे में फैला हुआ है जिसे संभालना काफी चुनौती भरा का काम है ।

इस पुलिस स्टेशन की हद में बीजेपी विधायक टेकचंद सावरकर भी रहते हैं। नंदनवन पुलिस में तीन बीट शामिल हैं: 1) हसनबाग बीट , ( हसनबाग बीट के बीट मार्शल – एनपीसी रवींद्र धोडके -मोबाइल: 8668595687) 2) नंदनवन बीट (नंदनवन बीट के बीट मार्शल – एनपीसी मनीष इंगोले-मोबाइल: 9764109376) और 3) श्रीकृष्ण नगर बीट (श्रीकृष्ण नगर बीट के बीट मार्शल – एनपीसी बजरंग 788) है । सभी बीट मार्शल 24 घंटे इलाके में पैनी नजर रखकर पेट्रोलिंग करते है । इस क्षेत्र में हसनबाग इलाका काफी संवेदनशील माना जाता है जहां पुलिस अपना विशेष ध्यान रखती है।

वरिष्ठ पोलिस निरीक्षक मुख्तार दाऊद शेख , नंदनवन पोलिस स्टेशन , नागपुर शहर

नागपुर टुडे से बात करते हुए वरिष्ठ पीआई मुख्तार शेख ने बताया की कैसे उन्होंने नंदनवन पुलिस की हद में स्थित घरों में चोरी , घरफोडी की घटनाओं को रोकने के लिए कई कड़े और पुख्ता उपाय किए है जिसकी वजह से फिलहाल ऐसी घटनाओं में काफी कमी आई है । पीआई शेख ने पुलिस आयुक्त (सीपी), अमितेश कुमार, पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) जोन 4 अक्षय शिंदे के निर्देशों के बाद क्षेत्र में कुख्यात अपराधियों के खिलाफ प्रतिबंधक कार्रवाई तेज कर रखी है। लिहाजा यह कदम काफी महत्वपूर्ण साबित हुआ है । इलाके में रहनेवाले नागरिकगण कहते है कि, जब से पीआई मुख्तार शेख ने कार्यभार संभाला है, नंदनवन पुलिस स्टेशन में असामाजिक गतिविधियों में महत्वपूर्ण गिरावट आई है।

नंदनवन बीट – बीट मार्शल नायक पोलिस कांस्टेबल मनीष इंगोले, मोबाईल नंबर – 9764109376

हसनबाग बीट- बिट मार्शल नायक पोलिस कांस्टेबल रविंद्र धोड़के, मोबाईल नंबर 8668595687

पीआई मुख्तार शेख ने जब से इस थाने की कमान संभाली तो सबसे पहले उन्होंने पुलिस और समाज के बीच की खाई को पाटने के लिए अपना निजी मोबाइल नंबर – 9823703845 – स्थानीय लोगों के साथ साझा कर दिया है और उन्हें सलाह भी दी , कि किसी भी आपात स्थिति के मामले में या अपराधी संबंधित किसी मामले में गुप्त रहस्य साझा करना चाहता है , तो उन्हें बेझिझक सीधे कॉल कर सकता है। सुचना देने वाले का नाम हमेशा गोपनीय रखा जाएगा ऐसा आश्वासन भी उन्होंने दिया है , इसीतरह स्थानीय नागरिकगण को 24 घंटे पुलिस मदत मुहैया हो इस बात को ध्यान में रहते हुए कोई भी स्थानीय नागरिक नंदनवन पुलिस के लैंडलाइन नंबर: 0712-2212190/192 पर भी 24 घंटे संपर्क कर सकते है।

श्रीकृष्ण नगर बीट- बीट मार्शल नायक पोलिस कॉन्स्टेबल बजरंग पडवाल –

नंदनवन पोलिस स्टेशन की डीबी टिम


स्थानीय बातचीत का महत्व:
नंदनवन पुलिस आयेदिन परिसर में शांतता मीटिंग्स, मोहल्ला मीटिंग्स और सीनियर सिटीजन मीटिंग्स के अलावा उनकी शिकायतों को सुनने के लिए स्थानीय नगरसेवकों, सामाजिक कार्यकर्ताओं और व्यापार मालिकों के साथ बातचीत करना सुनिश्चित करती है ताकि उनके प्रश्नों को सुनकर उसका तत्काल निराकरण किया जा सके। इसके अलावा नंदनवन पुलिस ने नागरिकों की शिकायतों को जल्द से जल्द दूर करने के लिए कई व्हाट्सएप ग्रुप बनाए हैं जिसका काफी लाभ मिल रहा है ऐसा पीआई शेख ने बताया ।

रूट मार्च करते हुवे नंदनवन पुलिस स्टेशन के अधिकारी तथा कर्मचारी


क्षेत्र में आपराधिक अनियमितताओं को रोकने के लिए कड़ी निवारक कार्रवाई :

नंदनवन पुलिस स्टेशन के अधिकार क्षेत्र के तहत पुख्ता और सख्त कानून व्यवस्था की स्थिति को लागू करने के लिए पुलिस ने मा. पुलिस आयुक्त अमितेश कुमार और डीसीपी अक्षय शिंदे की देखरेख में क्षेत्र में रिकॉर्ड शातिर अपराधियों, अवैध शराब और जुआ कारोबार के खिलाफ सख्त और कानूनी संगठित कार्रवाई शुरू कर रखी है। पीआई शेख ने कहा कि नंदनवन पुलिस ने स्थानीय निवासियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए एक कुख्यात बदमाश को हाल ही में जिले से तड़ीपार कर दिया है और चार शातिर आदतन बदमाशो को एमपीडीए के तहत जेल भेज दिया है। पीआई मुख्तार शेख ने कहा, “नंदनवन पुलिस ने इस साल ऐसे शातिर और रिकॉर्ड दर्ज अपराधियों के खिलाफ 150 से अधिक प्रतिबंधक कार्रवाई की है। उन्होंने इलाके के असामाजिक तत्वों को सख्त कानूनी कार्रवाई की चेतावनी देते हुए यह भी कहा कि, यदि किसी ने सामाजिक सदभाव को बिगाड़ने की कोशिश की तो उनके खिलाफ कड़ी से कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाएगी ।

नागरिकों की समस्या सुनते हुवे – वरिष्ठ पोलिस निरीक्षक मुख्तार शेख , नंदनवन पोलिस स्टेशन, नागपुर शहर

रोल कॉल – नंदनवन पोलिस स्टेशन के अधिकारी तथा कर्मचारी

वृक्षारोपण का आयोजन करते हुवे नंदनवन पोलिस स्टेशन के अधिकारी

सावधानियां ही सर्वोत्तम निवारक उपाय हैं:
“एक सतर्क नागरिक अपने क्षेत्र में आपराधिक गतिविधियों को रोकने के लिए पुलिस की कभी भी मदद कर सकता है इसीलिए स्थानीय नागरिकों ने हमेशा पुलिस से संपर्क में रहना चाहिए, अगर किसी भी व्यक्ति को क्षेत्र में कुछ भी संदिग्ध गतिविधियां दिखाई देती है तो सीधे पुलिस से संपर्क कर जानकारी दे सकते है । विशेषतः”पीआई शेख ने जनता से अपील कर रखी है कि, नागरिकगण ने शहर से बाहर जाते समय, हमेशा अपने कीमती सामान तथा गहने और नकदी बैंक लॉकर में रखना चाहिए । आयेदिन हो रही चोरी की घटनाओं को रोकने के लिए उन्हें सुरक्षित रखना बेहद जरूरी है । नागरिकों ने अपने सभी कीमती सामान की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए आज के दौर में बैंक लॉकर लेना बहुत जरूरी है या कभी-कभार शहर से बाहर जाने के पहले हरएक नागरिक ने अपने विश्वासपात्र करीबी रिश्तेदारों के घर ऐसे कीमती सामान को रखकर जाना चाहिए । आयेदिन होनेवाली चेन स्नेचिंग की घटनाओं को रोकने के लिए मैं महिलाओं से आग्रह करना चाहूंगा कि सुबह या शाम की सैर के लिए बाहर जाते समय बेशकीमती सोने के गहने पहनने से बचें। हालांकि, अगर वे अपने गहने पहनना चाहते हैं, तो उन्हें अपनी गर्दन को ठीक से ढंकना चाहिए, ताकि अपराधी यह न पहचान सकें कि उन्होंने क्या पहना है। ”

नक्शा – नंदनवन पोलिस स्टेशन परिसर का नक्शा

नागरिकों को उनके अधिकार क्षेत्र तथा पुलिस स्टेशन के बारे में सूचित करने के लिए, नागपुर टुडे एक विशेष श्रृंखला लेकर आया है – “अपने पुलिस स्टेशन को जानिए” – पुलिस स्टेशन के बारे में सभी आवश्यक जानकारी को आम जनता तक पहुँचाने के लिए आया है। रिपोर्ट में आपको संबंधित पुलिस थानों के पुलिस निरीक्षक, किसी आपात स्थिति में उनसे संपर्क करने के तरीके, क्षेत्र में अधिकारी के भविष्य के लक्ष्यों आदि के बारे में जानकारी मिलेगी।

रविकांत कांबले