Published On : Mon, Jun 21st, 2021

नागपुर शहर के एमआईडीसी पुलिस स्टेशन को जानिये

नागपुर टुडे : भाग 20

एम.आई.डी.सी. पोलिस स्टेशन , नागपुर शहर

नागपुर टुडे : 25 मार्च 1977 को स्थापित, MIDC पुलिस स्टेशन का नेतृत्व वर्तमान में वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक (PI) युवराज संभाजी हांडे (2005 बैच के PSI) कर रहे हैं। पुलिस महकमे में श्री. हांडे को उनकी बेहतरीन कार्यकुशलता के लिए जाना जाता है । MIDC पुलिस स्टेशन में कुल 89 पुरुष-महिला पुलिसकर्मी तथा 12 पुलिस अधिकारी तैनात है ।

MIDC पुलिस स्टेशन परिसर में जयताला से लेकर हिंगना पुल (E-W) और सोनेगांव निपानी से इसासानी-वाघधारा (N-S) के बीच का लंबा-चौड़ा क्षेत्र शामिल है यह इलाका लगभग 10 किलोमीटर का बताया जा रहा है यहां की जनसंख्या करीब 3 लाख के करीब बताई जा रही है । इसके अलावा, सोनेगांव-निपानी, इसासानी, नीलडोह और डिगडोह ग्राम-पंचायत एमआईडीसी पुलिस क्षेत्राधिकार में वानाडोंगरी नगर परिषद और 13 स्लम बस्तियां भी शामिल हैं।

एमआईडीसी पुलिस स्टेशन के क्षेत्र को महाराष्ट्र में एजुकेशन हब के रुप मे भी जाना जाता है । इस इलाके में यशवंतराव चव्हाण कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग, प्रियदर्शनी इंजिनियरिंग कॉलेज और रायसोनी ग्रुप ऑफ इंस्टिट्यूट जैसे प्रसिद्ध कॉलेज मौजूद है जहां हरवर्ष हजारों विद्यार्थी इंजीनियरिंग की डीग्री प्राप्त कर विश्वस्तर पर अपने शहर तथा गाँव का नाम रोशन करते है । इस परिसर में भारतरत्न स्वरकोकिला लता मंगेशकर के नाम से एक भव्य अस्पताल भी है जहां देश के दूरदराज इलाके से आये हजारों विद्यार्थी डॉक्टरी की शिक्षा ग्रहण करते है । इसीतरह मेघे ग्रुप का एक बड़ा अस्पताल भी एमआईडीसी पुलिस के अधिकार क्षेत्र में आता है।

MIDC पुलिस स्टेशन में कुल चार बीट शामिल हैं जिसमे इंदिरा माता नगर बीट (बीट मार्शल – हेडकांस्टेबल ओमप्रकाश खंडाते -9923335393), राजीव नगर बीट (बीट मार्शल -हेडकांस्टेबल रामेश्वर गवई-9850848580), वानाडोंगरी बीट ( बीट मार्शल – हेडकांस्टेबल गैबीनाथ – 8329290978) और अमर नगर बीट ( बीट मार्शल – शशिकांत काडे- 9923441323), एपीआई- रमेश हट्टीगोटे (मोबाइल नंबर: 8888823670) एमआईडीसी पुलिस के डीबी दस्ते का नेतृत्व करते हैं।

वरिष्ठ पोलिस निरीक्षक युवराज हांडे, एम.आई.डी.सी. पोलिस स्टेशन , नागपुर शहर

नागपुर टुडे से बात करते हुए वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक युवराज हांडे ने चर्चा की कि किसतरह से उन्होंने एमआईडीसी पुलिस ने क्षेत्र में अपराध तथा चोरी की गतिविधियों को रोकने के लिए कई कड़े और व्यापक उपाय किए हैं। श्री. हांडे ने मा. पुलिस आयुक्त (सीपी), अमितेश कुमार, मा. पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) जोन 1, नूरुल हसन के निर्देशों के तहत क्षेत्र में कुख्यात अपराधियों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई तेज कर दी है जिसकी वजह से अपराधियो में खासा खौफ व्याप्त है ।

एम. आय. डी.सी. पुलिस स्टेशन के डीबी टीम के साथ डीबी इंचार्ज साहाय्यक पुलिस इंस्पेक्टर ( Api) रमेश हत्तीगोटे स , मोबाईल नंबर – 8888823670

पुलिस और समाज के बीच की खाई को पाटने के लिए, पीआई युवराज ने पहले ही अपना निजी मोबाइल नंबर – 8275200947 – स्थानीय लोगों के साथ साझा कर दिया है और उन्हें सलाह दी है कि किसी भी आपात स्थिति में या यदि कोई कोई व्यक्ति अपराध या अपराधी से संबंधित गुप्त जानकारी साझा करना चाहता है तो उन्हें सीधे कॉल करें । सूचना देनेवाले का नाम हमेशा गुप्त रखा जाएगा ऐसा आश्वासन उन्होंने दिया है ठीक इसीतरह कोई भी नागरिक एमआईडीसी पुलिस से उनके लैंडलाइन नंबर: 0710-237935/237885 पर 24 घंटे बेहिचक संपर्क कर सकता है।

नागरिकों की समस्या सुनते हुवे – वरिष्ठ पोलिस निरीक्षक युवराज हांडे, एम.आई.डी.सी. पोलिस स्टेशन , नागपुर शहर

स्थानीय बातचीत का महत्व:
एमआईडीसी क्षेत्र में आएदिन “शांतता मीटिंग्स, मोहल्ला मीटिंग्स और सीनियर सिटीजन मीटिंग्स के अलावा उनकी शिकायतों को सुनने के लिए, MIDC पुलिस नागरिकों, स्थानीय नगरसेवकों, सामाजिक कार्यकर्ताओं और व्यापार मालिकों के साथ बातचीत करना सुनिश्चित करती है ताकि उनके प्रश्नों का निराकरण किया जा सके। इसीतरह MIDC पुलिस कॉलेज में पढ़ रहे छात्रों के साथ बातचीत करने के लिए क्षेत्र में स्थित स्कूल, कॉलेजों द्वारा आयोजित कई सेमिनारों और जागरूकता अभियानों में भाग लेती है। यह हमें युवाओं में जागरूकता फैलाने में मदद करता है, ऐसा ”पीआई युवराज हांडे ने कहा।

एम.आई.डी.सी. पोलिस स्टेशन में रक्तदान शिबीर

क्षेत्र में अपराध और बढ़ती अनियमितताओं को रोकने के लिए कड़ी कार्रवाई:
“क्षेत्र में चोरी की बढ़ती घटनाओं के कारण, एमआईडीसी पुलिस ने पुलिस आयुक्त अमितेश कुमार और पुलिस उपायुक्त नूरुल हसन की देखरेख में क्षेत्र में शातिर और आदतन अपराधियों, अवैध शराब और जुआ कारोबार के खिलाफ संगठित कार्रवाई शुरू की है। MIDC पुलिस ने अकेले इस साल 138 कानूनी कार्रवाई की जो की पिछले साल की तुलना में काफी अधिक है। इसके अलावा पुलिस ने स्थानीय निवासियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए एक आरोपी के खिलाफ एमपीडीए के तहत कार्रवाई की है ऐसी जानकारी पीआई हांडे ने दी।

रोल कॉल- एम.आय.डी.सी.पोलिस स्टेशन के अधिकारी तथा कर्मचारी

माता-पिता को अपने बच्चो की शिक्षा पर विशेष ध्यान देना चाहिए ।
पीआई हांडे कहते ही कि, “MIDC पुलिस के अधिकार क्षेत्र में गरीब मजदूरों का एक बड़ा हिस्सा रहता है। ये मजदूर अपने परिवार के लिए रोजी-रोटी कमाने के लिए 24 घंटे घर से बाहर रहने और पूरे दिन काम करने को मजबूर हैं।

वानाडोंगरी बीट , बीट मार्शल हेडकांस्टेबल गैबीनाथ , मोबा-8329290978 तथा पुलिस कांस्टेबल आशीष काडे, मोबा – 9922437183

अमर नगर बीट , बीट मार्शल नायक पुलिस कांस्टेबल शशिकांत काडे , मोबा – 9923441323 तथा पुलिस कांस्टेबल सचिन पाटिल , मोबा- 9960757579

इसका सीधा असर अक्सर उनके बच्चो की शिक्षा पर पड़ता है जिसकी वजह से कभी-कभी उन्हें नानाप्रकार की उलझनों में उलझना पड़ता है। इसलिए मैं नागपुर टुडे के मंच से परिसर के गरीब श्रमिक वर्ग के प्रत्येक माता-पिता को अपने बच्चों को शिक्षित करने की सलाह देना पसंद करता हूं क्योंकि शिक्षा अपराध रोकने के लिए एक प्रमुख निवारक और रामबाण उपाय है ।

इंदिरा माता नगर बीट , बीट मार्शल हेडकांस्टेबल ओमप्रकाश खंडाते मोबा- 9923335393 तथा पुलिस कांस्टेबल सचिन बलबुढे मोबा- 9309846890

राजीव नगर बीट , बीट मार्शल हेडकांस्टेबल रमेश गवई, मोबा- 9850848580 तथा पुलिस कांस्टेबल धीरेन्द्र निमसड़े , मोबा-7775872235

नागरिकों को उनके क्षेत्रीय पुलिस स्टेशन के बारे में सूचित करने के लिए, नागपुर टुडे एक विशेष श्रृंखला के साथ आया – अपने पुलिस स्टेशन को जानें – आम जनता के लिए पुलिस स्टेशन के बारे में सभी आवश्यक जानकारी को सक्षम करने के लिए। रिपोर्ट में आपको संबंधित पुलिस थानों के पुलिस निरीक्षक, किसी आपात स्थिति में उनसे संपर्क करने के तरीके, क्षेत्र में अधिकारी के भविष्य के लक्ष्यों आदि के बारे में जानकारी मिलेगी।

रविकांत कांबले