| | Contact: 8407908145 |
    Published On : Sun, Feb 14th, 2021

    नागपुर शहर के अजनी पुलिस स्टेशन को जानिये……

    भाग 2: नागपुर टुडे

    अजनी पुलिस थाने की स्थापना 23 नवंबर 1970 को हुई थी । वर्तमान में इस थाने की कमान पुलिस निरीक्षक विनोद माणिकराव चौधरी के हाथों है वे 1996 के PSI बैच से आते हैं ।

    इस पुलिस स्टेशन में कुल 95 लोगों का पुलिस स्टाफ़ है जिसमें 9 अधिकारी और 2 पुलिस इंस्पेक्टर शामिल हैं. इस थाने के तहत क्रीड़ा चौक, मेडिकल चौक, इमामबाड़ा की सीमा, संगम होटल, टीबी वार्ड जैसे इलाके आते हैं साथ ही कई संवेदनशील इलाकों का भी इसमे समावेश है ।

    पुलिस स्टेशन की हद में तीन बड़े सरकारी अस्पताल जिसमें एशिया का सबसे बड़ा अस्पताल मेडिकल कॉलेज अस्पताल, साथ ही राष्ट्रसंत तुकडोजी महाराज कैंसर हॉस्पिटल भी है जहां मध्य भारत से हजारों की संख्या में मरीज अपना इलाज करवाने आते है । इसके बगल में ही सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल हैं जहां विश्वस्तर की तकनीकी का इस्तेमाल कर आर्थिक रूप से कमजोर गरीब मरीजो का उपचार किया जाता है ।

    अंजनी पुलिस के कर्मचारी यह रेलवे क्वार्टर, पुराने और नए बाबुलखेड़ा, रामेश्वरी, चंद्रममणी नगर जैसे संवेदनशील इलाकों पर 24 घंटे अपनी पैनी नजर बनाए रखते हैं.

    नागपुर टुडे से खास बातचीत में अंजनी के सीनियर थानेदार पीआई विनोद चौधरी ने कई पहलुओं पर चर्चा की, वे कहते हैं क्षेत्र में क्राइम पर पूरी तरह नियंत्रण रखने के लिये उन्होंने जनता से उनके व्यक्तिगत मोबाइल नंबर 9923411547 पर संपर्क साधने की अपील कर रखी हैं । यही नहीं वे ये भी अपील करते हैं उन्हें इस मोबाइल नंबर पर 24 घंटे इलाके के किसी भी क्राइम से संबंधित मामले के बारे में गुप्त सूचना दी जा सकती है वे जनता को विश्वाश दिलाते हुए कहते है कि, पुलिस द्वारा गुप्त सूचना देनेवालों की पहचान भी गुप्त ही रखी जाएगी ।

    जनता से सीधा संवाद :

    इलाके में शांति और समन्वय बनाए रखने के लिए अजनी पुलिस यहां के नागरिकों से लगातार संपर्क और संवाद कार्यक्रमों का आयोजन करती रहती है । जिसमें शांतता मीटिंग, मोहल्ला मीटिंग, सीनियर सिटिज़न मीटिंग जैसे उपक्रमों का आयोजन शामिल हैं. महिलाओं की खास सुरक्षा और उनसे जुड़ी समस्याओं के निराकरण के लिए विशेष तौर से महिला पुलिस का स्पेशल स्क्वाड भी तैनात किया गया है जो 24 घंटे सेवा में तत्पर रहता है । महिलाओं के लिए अलग से परामर्श सेशन भी लिया जाता है ताकि वे अपनी बात खुलकर रख सकें ।

    अजनी पुलिस स्टेशन के अधीन आनेवाले विशेषतः मेडिकल अस्पताल, सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल और कैंसर हॉस्पिटल में 24 घंटे सतर्कता बरतते हुए खास तौर पर विभिन्न प्रांतों से आनेवाले हर एक मरीज या उनके रिश्तेदारों पर निगरानी रखी जाती है. इस अस्पताल में बड़े पैमाने पर दूरदराज़ के मरीजों और उनके परिजनों का आना जाना होने से उनके सुरक्षा की अहम जिम्मेदारी अंजनी पुलिस पर होती है. लिहाजा स्पेशल सर्वेलांस की मदद से मरीजों और परिजनों की सुरक्षा सुनिश्चित की जाती है ।

    हिस्ट्री शीटरों पर गहन दक्षता

    अजनी पुलिस स्टेशन की हद में अपराधों पर पहरा लगाने के लिए टॉप 20 शातिर और हिस्ट्री शीटरों की सूची तैयार कर उन पर पर नजर रखी जाती है ।

    अजनी पुलिस ने बीते तीन सालों में MPDA के तहत 9 अपराधियों को जेल भेजा है. दो शातिर और कुख्यात बदमाशों को भी पकड़ा है. सीनियर पुलिस निरीक्षक चौधरी दावा करते हैं कि उनकी टीम ने इलाके में क्राइम पर कंट्रोल रखने के लिए एंटी सोशल एलिमेंट्स पर अपनी पैनी नजर गड़ाए रखी है घटना घटने के पहले ही उसपर नियत्रंण करना अंजनी पुलिस की प्राथमिकता में शामिल है ।

    नागपुर की आम जनता को उनके क्षेत्र के पुलिस स्टेशनों की अधिक जानकारी दिलाने के इरादे से नागपुर टुडे की ओर से एक खास सिरीज़ शुरू की गई है जिसका नाम है “अपने पुलिस स्टेशन को जानें” इस सिरीज के ज़रिये हम लोगों को उनके इलाके के पुलिस स्टेशन से जुड़ी हर जानकारी उपलब्ध कराना चाहते हैं ताकि जरूरत और मुसीबत पड़ने पर आप अपने पुलिस स्टेशन से फ़ौरन और बेझिझक संपर्क कर सकें ।

    – रविकांत कांबळे & शमानंद तायडे

    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145