Published On : Tue, Jan 27th, 2015

हिंगणा : मातंग समाज के नेता का हत्यारा पुलिस हिरासत में


हत्या करने आया था नागपुर

Arrested
हिंगणा (नागपुर)।
कोल्हापुर जिले के शिरोली में मातंग समाज के नेता यशवंत मोहिते की हत्या कर फरार हुए आरोपी को हिंगणा पुलिस ने शनिवार को बड़ी चतुराई से गिरफ्तार किया. गुनाह कबूल करने के साथ उसने नागपुर सीताबर्डी के एक सुप्रसिद्ध होटल मालिक की हत्या के लिए आने का बताया है. आरोपी उमेश सुरेश सोनवणे (30) एरडोल जि. जलगांव निवासी है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार उमेश शिरोली, कोल्हापुर निवासी यशवंत मोहिते (36) के इटाभट्टी पर देखभाल, चालक, अंगरक्षक, के तौर पर कार्यरत था. जनवरी के पहले सप्ताह में यशवंत मोहिते ने अपने निवास स्थान पर काम के लिए उमेश को दाटफटकार की तथा नौकरी से निकाल दिया. 11 जनवरी यशवंत मोहिते को घर में अकेला होने का फायदा उठाकर गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी. उसके बाद लाश को कार में रखकर कर्णाटक राज्य की सीमा में दावन पुलिस थाना अंतर्गत एक ढाबे के पास कार खड़ी कर दी और वहां से फरार हो गया.

इस घटना की जानकारी मिलते ही कर्णाटक पुलिस कोल्हापुर पहुंची एवं इस हत्या का पर्दाफाश किया. पुलिस को पता चला कि,  यशवंत की हत्या उमेश ने की है. पुलिस ने मोबाइल ट्रैक कर उमेश का पता लगाया कि उमेश हिंगणा परिसर में है. कोल्हापुर पुलिस अधिक्षक मनोज शर्मा ने नागपुर पुलिस अधिक्षक भारती सिंग को इसकी जानकारी दी तथा हिंगणा पुलिस को आरोपी ढूंढ कर गिरफ्तार करने का आदेश दिया.

गुप्त जानकारी मिलने पर थानेदार दीपक वानखेड़े, हवालदार भोजराज तांदुलकर, अमित रिनके, चालक मदन मिश्रा ने आरोपी को शनिवार सुबह 10:30 बजे के करिब वेना नदी किनारे गिरफ्तार किया. आरोपी से पूछताछ करने पर यह पता चला कि यह बड़ा हत्यारा है.

उल्लेखनीय है कि, 2009 में एरंडोल (जलगांव) हत्या की, 2011 में नाबालिक लड़की पर अत्याचार करने का भी आरोप उसपर है. इस घटना में वह फरार होकर नागपुर आया था. उस दौरान उमेश सीताबर्डी के एक सुप्रसिद्ध होटल में काम कर रहता था. पर वहा उसका झगड़ा होटल मालिक से हुआ. इस होटल मालिक की हत्या करने का इरादा बनाकर वह नागपुर आया ऐसा उसने कबूल किया है.

हिंगणा के थानेदार वानखेड़े ने कोल्हापुर-शिरोली पुलिस को आरोपी के में जानकारी थी.