Published On : Tue, Jan 27th, 2015

अकोला : भारिप बमसं के जिल्हा उपाध्यक्ष को न्यायिक हिरासत


हाथ में तलवार लेकर किसान को धमकाना पडा महंगा

अकोला। एमआईडीसी परिसर के काठेवाडी गोपालक की लगभग डेढ एकड खेती नाम पर कराने के लिए भारिप बमसं के जिला उपाध्यक्ष सम्राट माणिकराव सुरवाडे ने हाथ में तलवार लेकर उधम मचाने से सिविल लाईन पुलिस ने शुक्रवार रात सुरवाडे को गिरफ्तार किया था. उसे न्यायालय में पेश किया गया. जहां न्यायालय ने उसे न्यायिक हिरासत में भेजा है. दौरान सम्राट सुरवाडे ने न्यायालय के समक्ष यह आरोप किया कि उपविभागीय पुलिस अधिकारी डा. मुंडे ने लाकअप में उसकी जमकर पिटाई की तथा जातिवाचक गालीगलोच की. इस शिकायत के बाद न्यायालय के निर्देश पर सुरवाडे की वैद्यकीय जांच कराई जा रही है.

एमआईडीसी क्रमांक ३ के खेत जमीन को अपने नाम पर करवाने के लिइ जान से मारने की धमकी देते हुइ गुडधी निवासी भारिप बमसं के जिला उपाध्यक्ष सम्राट सुरवाडे ने हाथ में तलवार लेकर एमआईडीसी परिसर निवासी मीठावाह शिंदव को धमकाया. कातखेड परिसर की खेत जमीन अपने नाम करने के लिए शुक्रवार दोपहर 12 बजे जान से मारने की धमकी दी थी. काठेवाडी गोपालक शिंदव ने यह जमीन मधुसूदन पाठक से खरीदी थी. इस जमीन का विवाद बार्शिटाकली न्यायालय के सकारात्मक निर्णय के साथ खत्म हुआ था. इस मामले में मीठावाह शिंदव की शिकायत पर भादंवि की धारा 452, 387, रेड डब्ल्यू. 4/25 आर्म एक्ट के तहत सहायक पुलिस अधीक्षक डा. प्रवीण मुंडे के एन्टी गुंडा स्क्वाड ने सम्राट सुरवाडे को उसके निवासस्थान से गिरफ्तार किया था.

उसे न्यायालय के समक्ष उपस्थित किया गया. पुलिस ने उसका 31 जनवरी तक पीसीआर मांगा था. लेकिन न्यायालय ने उसे न्यायिक हिरासत दी. ज्ञात हो कि इससे पूर्व सुरवाडे ने २२ जनवरी को अशोक शुक्ला के खिलाफ 323, 504 के तहत गालीगलोच करने एवं मारपीट की शिकायत की थी. सुरवाडे के अनुसार इसी वजह से उसे झूठे आरोप में गिरफ्तार किया गया है.
court