Published On : Tue, May 18th, 2021

सौतेले पिता को मार डाला, बेटी पर नियत थी खराब, करता था मारपीट

नागपुर. सौतेली बेटी पर उसकी नियत खराब थी. वह बच्ची के साथ आपत्तिजनक हरकत करता था. लैंगिक शोषण होने के कारण बेटी ने पुलिस से शिकायत की और उसे मामला दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया. इस प्रकरण में आरोपी को सजा भी हुई. जेल की हवा खाने के बाद वह वापस लौटा. इसके बाद भी वह मां-बेटी के साथ मारपीट करता था. बेटी पर बुरी नजर रखता था. आखिर परेशान होकर युवती ने सौतेले बाप को मौत के घाट उतार दिया. यह घटना हिंगना थानांतर्गत सावली परिसर में हुई. मृतक ज्ञानेश्वर गटकर (60) बताया गया. गटकर मूलत: वर्धा के सेलू का रहने वाला है. पुलिस ने 19 वर्षीय रंजिता (नाम बदला हुआ) के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर हिरासत में ले लिया है. रंजिता 1 वर्ष की थी जब उसके पिता का देहांत हो गया. तब से मां खेत मजदूरी और घरों में काम करके बेटी का पालन-पोषण कर रही थी.

6 वर्ष पहले किया था दुष्कर्म का प्रयास
मां ने गटकर का हाथ थाम लिया और दोनों विवाह के बगैर ही साथ रहने लगे. रंजिता बड़ी होने लगी और गटकर की नियत खराब हो गई. वर्ष 2015 में वह केवल 13 वर्ष की थी लेकिन गटकर उसका शोषण करने लगा. रंजिता ने मां को अपने साथ हो रहे अत्याचार की जानकारी दी. प्रकरण की शिकायत पुलिस से की. पुलिस ने दुष्कर्म के प्रयास का मामला दर्जकर गटकर को गिरफ्तार कर लिया. इस मामले में उसे सजा भी सुनाई गई. रंजिता ने 10वीं के बाद पढ़ाई छोड़ दी और मां के साथ काम करने लगी. 2 महीने पहले वह जेल से सजा काटकर बाहर आया. 1 महीने पहले वह रंजिता के घर गया. मां-बेटी के साथ जमकर गालीगलौज की और चला गया. सोमवार की सुबह वह उनके घर गया. रंजिता की मां के साथ विवाद करने लगा.

लाठी से फोड़ दिया सिर
बाल पकड़कर हाथापाई की. रंजिता ने उसका विरोध किया. गटकर ने उसे धक्का मारकर गिरा दिया. इससे बौखलाई रंजिता ने घर में रखी लाठी उठाकर गटकर के सिर पर दे मारी. वह पहले से शराब के नशे में था. लाठी का प्रहार होते ही वह आंगन में बेहोश होकर गिर गया. खून ज्यादा बह चुका था. घटना की जानकारी मिलते ही हिंगना पुलिस मौके पर पहुंची. पुलिस तुरंत उसे अस्पताल ले गई लेकिन डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया. पहले रंजिता के नाबालिग होने की जानकारी दी गई. पुलिस ने दस्तावेजों की जांच कि तो उम्र 19 वर्ष होने का पता चला. हत्या का मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार किया गया. बताया जाता है कि गटकर की पहली पत्नी और बच्चे सेलू में रहते हैं. उसकी इन्हीं हरकतों के कारण परिवार से बनती नहीं थी.