Published On : Sat, Sep 14th, 2019

किराएदार युवकों ने की मकान मालिक की हत्या

Advertisement

नागपुर: कलमना थाना क्षेत्र में किराए के पैसों को लेकर हुए विवाद में 3 किराएदार युवकों ने मकान मालिक की हत्या कर दी. घर के बाहर ही सिर पर पत्थर से वार कर मौत के घाट उतार दिया. कलमना पुलिस मामले की जांच में जुट गई है, लेकिन 24 घंटे बीत जाने के बावजूद कोई सुराग नहीं मिला है. मृतक रामलाल दद्दीप्रसाद जायसवाल (41) बताए गए. आरोपियों में अंकुश जायसवाल और उसके 2 साथियों का समावेश है. पुलिस के अनुसार रामलाल मूलत: मध्यप्रदेश के रीवा के रहने वाले हैं. कुछ वर्ष पहले व्यवसाय करने के लिए नागपुर आए थे.

व्यापार में पैसा कमाकर कलमना के आदर्शनगर इलाके में घर बनवाया. अपनी पत्नी और बच्चों के साथ यहां कुछ वर्ष रहे भी. नागपुर में रहने के कारण रीवा की खेती पर ध्यान नहीं दे पा रहे थे, इसीलिए मकान किराए पर देकर रीवा चले गए. अंकुश और उसके साथी यहां 2 कमरों में किराए पर रहते थे. हर महीने के दूसरे सप्ताह में नागपुर आकर रामलाल उनसे किराया वसूलते थे. इसके अलावा उनके बालों का उपचार भी नागपुर में चल रहा था.

Advertisement
Advertisement

11 सितंबर को रामलाल नागपुर आए. अंकुश से किराया मांगा था. उसने जल्द किराया देने का विश्वास दिलाया, लेकिन पहले से उसपर 3 महीने का किराया बकाया था. रामलाल ने उसे 2 दिन में किराया नहीं देने पर मकान खाली करवाने की चेतावनी दी थी. 2 दिन रामलाल अपने उपचार के काम में लगे रहे. शुक्रवार की रात 9 बजे के दौरान अंकुश से किराया लेने गए. अंकुश ने किराया नहीं दिया. रामलाल ने उसे तुरंत घर खाली करने को कहा. इस बात पर विवाद हो गया. 2 साथियों ने रामलाल को पकड़ लिया और अंकुश ने बड़े पत्थर से रामलाल के सिर पर वार कर मौत के घाट उतार दिया.

आरोपी अपने कपड़े और कुछ सामान लेकर फरार हो गए. स्थानीय नागरिकों ने घटना की जानकारी पुलिस को दी. खबर मिलते ही कलमना पुलिस मौके पर पहुंची. पुलिस ने पंचनामा कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. पुलिस को केवल अंकुश का नाम पता चला है. उसके 2 साथियों को परिसर में कोई नहीं जानता. थानेदार विश्वनाथ चव्हाण ने बताया कि पुलिस अंकुश की तलाश में जुटी हुई है. हर संभावित जगह पुलिस की टीम छापा मार रही है. उसकी गिरफ्तारी के बाद ही विवाद का असली कारण और अन्य 2 आरोपियों के नाम पता चल पाएंगे. फिलहाल तो उसका कोई सुराग नहीं मिल पाया है.

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement