Published On : Tue, Jul 17th, 2018

चोरों के आतंक से त्रस्त किसान और व्यापारी

Nagpur: कलमना कृषि बाजार के व्यापारी व किसान असामाजिक तत्वों के बढ़ती दहशत व चोरों के आतंक से परेशान हो गये हैं. व्यापारियों और किसानों के साथ आये दिन लूटपाट हो रही है. कलमना बाजार के अंदर ही पुलिस स्टेशन होने के बाद भी किसी तरह की कार्रवाई नहीं होने के चलते चोर और असामाजिक तत्वों का आतंक बढ़ता जा रहा है.

इससे परेशान व्यापारियों ने मार्केट को 18 व 19 को मार्केट बंद रखकर आंदोलन करने का फैसला किया है. बाजार में रोज करोड़ों का कारोबार होता है. दूरदराज के जिलों से किसान कृषि माल लेकर मंडी में आते हैं. व्यापारियों के माध्यम से कृषि अपने माल की बिक्री करते हैं.

पुलिस विभाग व प्रशासन की अनदेखी के कारण कुछ समय से बाजार पर असामाजिक तत्व हावी होते जा रहे हैं. चाकू की नोक पर वे व्यापारियों व किसानों को अपना शिकार बना रहे हैं. इन अपराधियों के सर्वाधिक शिकार फल व्यापारी हैं. चोरों का गिरोह ट्रकों में आने वाले माल पर हाथ साफ कर लेते हैं.

देते हैं हत्या करने की धमकी
दूरदराज से माल लेकर आने वाले किसान बाजार के परिसर या वाहन में ही सोते हैं. इसका फायदा उठाते हुए चोरों के गिरोह हथियार की नोंक पर उनका कीमती सामान और कैश लूट लेते हैं. वहीं पुलिस में शिकायत करने पर हत्या करने की धमकी दी जाती है. इसी तरह की स्थिति व्यापारियों की बनी हुई है. आए दिन दूकान और कार्यालयों के ताले तोड़कर रुपये चुराये जा रहे हैं. दो दिन पहले ही एक ही रात में आठ दूकानों के ताले तोड़े गए.

राकेश कलवानी की शिकायत पर कलमना पुलिस ने चोरी का मामला दर्ज किया था, जबकि लालचंद गुप्ता, पन्ना साहू, राकेश साहू, हाजी इस्माइल, हरीश छाबरानी, इंडिया फ्रूट कम्पनी सहित सात-आठ व्यापारी चोरों का शिकार बन चुके हैं. व्यापारी व किसानों के जानमाल की सुरक्षा के लिए बाजार में सुरक्षा कर्मियों की तैनाती की गई है. सूत्रों के अनुसार अपराधियों की पुलिस और सुरक्षा कर्मियों से साठगांठ है. इसलिए उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जाती. इससे किसानों और व्यापारियों में रोष बढ़ते जा रहा है.

नहीं दिया जा रहा समस्याओं पर ध्यान
सेस के तौर हर माह करोड़‍ों की कमाई की जाती है. व्यापारियों ने सुरक्षा-व्यवस्था सुधारने और सीसीटीवी कैमरे लगाने की मांग की है, लेकिन इस संबंध में कोई कदम नहीं उठाया जा रहा है. कृषि उत्पन्न बाजार समिति मे प्रशासन की नियुक्त की गई है. दि नागपुर फ्रूट डीलर्स एसोसिएशन ने प्रशासक और कलमना पुलिस को भी शिकायत की है.

लेकिन इन समस्याओं पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है. एसोसिएशन ने सहकारिता मंत्री सुभाष देशमुख को भी ज्ञापन देकर तत्काल सख्त कदम उठाने की मांग फल व्यापारी आनंद डोंगरे, राजेश छाबरानी, शादुराम, मनोज मैनानी, घनराज मैनानी, प्रदीप मैनानी, राजा मैनानी, तस्लीम, बबलू, पन्नालाल साहू, जय तिवारी, शेख प्यारू, बाबा, मिलिंद फुलझेले, मिलिंद पेंढारकर ने की है.