Published On : Mon, Sep 9th, 2019

जिओ के ओवर हेड केबल बने स्मार्ट सिटी के लिए चुनौती

नागपुर: भारत सरकार की योजना के अनुसार नागपुर शहर का नाम भी स्मार्ट सिटी की फ़ेहरिस्त में शामिल तो हुआ. लेकिन बड़ी कंपनिया नियमो को ताक पर रखकर कई कार्य कर रही है. आक्स ग्राहक समिति के अध्यक्ष तथा अशासकीय सदस्य ग्राहक कल्याण समिति के मो. शाहिद शरीफ ने बताया की नियमों को ताक पर रखते हुए जिओ जैसी कंपनियों ने अपने ऑप्टिकल फ़ाइबर डॉक होने के बावजूद भी अपने ऑप्टिकल फ़ाइबर ओवर हेड इंस्टॉलेशन किए, बैगर अनुमति के.

इस मामले में हॉट मिक्स प्लांट विभाग महानगर पालिका जो केबल नीति अनुसार अनुमति देता है. उस विभाग ने बताया कि हमने रिलायंस जिओ को ओवर हेड ऑप्टिकल फ़ाइबर इंस्टॉलेशन की अनुमति नहीं दी है. एक तरफ़ स्मार्ट सिटी के नाम पर करोड़ों रुपये ख़र्च किया जा रहा है. लेकिन वही दूसरी ओर जिओ के केबल स्मार्ट सिटी के नियमों का उल्लंघन कर शहर की जनता के लिए जानलेवा साबित हो रहे हैं. यह केबल शहर की स्ट्रीट लाइट और बिजली के खंभों से होते हुए नागरिको के घरों में सेवा प्रदान करने के लिए डीटीएच बॉक्स तथा इंटरनेट कनेक्शन इंस्टॉल किए जा रहे हैं.

शरीफ ने बताया की इस अनियमित कार्य से नागपुर महानगरपालिका को करोड़ों रुपया की आय का नुक़सान तो हो ही रहा है साथ ही इसके जनता की जान को भी ख़तरा हो रहा है, और एक तरफ़ ग्राहकों को मिलने वाली सुविधा का भी नुक़सान हो रहा है.

आज हर सेवा प्रधान करने के लिए मनपा पैसे माँग रही है. लेकिन मनपा को होने वाली आय का नुक़सान हो रहा है. उन्होंने बताया कि विभाग के अधिकारी रिलायंस जिओ से अनियमित तरीक़े से साठगांठ कर ऑप्टिकल फ़ाइबर का इंस्टॉलेशन का कार्य जीअो के ऑप्टिकल फ़ाइबर का इंस्टॉलेशन के कार्य जोरों से शहर में चल रहा है. मनपा कर भरने वाले नागरिक स्वरूप ग्राहक इसका खामियाजा भुगत रहे है मनपा के आयुक्त तत्काल इस कार्य को स्थगित करने और जाँच के आदेश देने की मांग उन्होंने की है.