Published On : Thu, Jun 24th, 2021

इस्कॉन: कोरोना से मृत जीवात्माओं की सद्गति के लिये भागवत कथा का आयोजन

नागपुर – अंतरराष्ट्रीय कृष्ण भावनामृत संघ (इस्कॉन) के संस्थाकाचार्य श्रील ऐ. सी. भक्तिवेदांत स्वामी प्रभुपाद के प्रिय शिष्य श्रील लोकनाथ स्वामी महाराज की प्रेरणा से इस्कॉन नागपुर आश्रय द्वारा श्रीमद् भागवत का आयोजन किया जा रहा है।

इस कोरोना महामारी की वजह से जिन लोगों का असामयिक निधन होगया उनके परिजन शास्त्रोक्त पद्दति से विधिवत अंतिम क्रियाएँ भी नही कर पाये। ऐसे जीवात्माओं की सद्गति के लिये इस्कॉन नागपुर आश्रय ने इस भागवत कथा का आयोजन किया है।

कथा प्रारम्भ होने के पहले कथा व्यास सार्वभौम प्रभुका परिचय देते हुये इस्कॉन प्रवक्ता डॉ. श्यामसुंदर शर्मा बताया कि आपका जन्म पाकिस्तान में हुआ तथा वहीं की हैदराबाद यूनिवर्सिटी से एम.बी.बी.एस. की डिग्री प्राप्त की उसके बाद 1981 में डॉ. शिशपाल शर्मा के नाम से मेडिकल कॉलेज में प्रोफेसर होगये। उसी समय वे इस्कॉन से जुड़े तथा 1981 से 1991 तक मेडिकल कॉलेज करांची के प्रोफेसर रहते हुये कृष्ण भक्ति का प्रचार प्रसार किया। 1991 में वे भारत आगये। वर्तमान में आप इस्कॉन के वृन्दावन इंस्टिट्यूट ऑफ हायर एजुकेशन में प्रोफेसर है जहां वे श्रीमद भगवद्गीता एवं श्रीमद भागवतम पढाते है।

आज की कथा में वे भगवान कृष्ण के पांचजन्य शंख का जिक्र करते हुऐ बताया कि जब इस शंख को कुरुक्षेत्र के मैदान में बजाया तो कौरव सेना के हृदय विदीर्ण होगये। वही शंख जब भगवान ने द्वारका में प्रवेश करते समय सीमा पर शंख बजाया तो द्वारकावासियों के हृदय प्रशन्नता से झूम उठे। इस भागवत के आयोजन में जिन्होंने सहयोग दिया। वे प्रकार है।

अजय अग्रवाल, अमर अग्रवाल, कुणाल अंबिलकर, निशिकांत पारलीकर, कुणाल सहस्त्रा, ईश गुप्ता, मनीष गुप्ता, सुरेंद्र गुप्ता, राजा मखीजा, राजकुमार पंजवानी, राधेश्याम तिवारी, विश्वनाथ चक्रवर्ती, रंगपुरी प्रभु, वृंदावन बिहारी प्रभु, संजय चांदोरा, रविंद्र खुले, किरण अवचट, संस्थापकाचार्य प्रभु, ओमप्रकाश बंग, वैष्णव पाद प्रभु, राजकुमार पंजवानी, सचिन लूथरा, समीर वजलवार, अविनाश सगदेव, कैलाश कोटवानी, मिलन साहनी, इंदिरा पांडुरंग इत्यादि।

इस्कॉन नागपुर के अध्यक्ष सच्चिदानंद प्रभु एवं अनंतशेष प्रभु ने सभी नगर वासियों से अपील की है कि वे इस आयोजन का पूर्ण लाभ लेवे। इसका सीधा प्रसारण इस्कॉन नागपुर आश्रय के यूट्यूब चैनल एवं फेसबुक पेज पर दोपहर 3.45 बजे से सायं 6 बजे तक हो रहा है।