Published On : Thu, Aug 8th, 2019

सर्विस रोड के बीचोबीच वृक्ष दे रही दुर्घटनाओं को आमंत्रण

पागलखाना चौक से मानकापुर स्टेडियम चौक के मध्य दर्जनभर वृक्ष को हटाने व सीमेंट सड़क का ‘रेडियल वर्क’ में हेराफेरी,अभा सड़क कांग्रेस से जाँच करवाने की मांग

नागपुर : पिछले ५ वर्षों में नागपुर सहित सम्पूर्ण देश में सड़क निर्माण कार्य में गति आई,जिसके तहत जायज-नाजायज कारणों को दर्शाकर लाखों में वृक्षों का क़त्ल किया गया.ऐसे में नागपुर के पागलखाने चौक से मानकापुर स्टेडियम चौक तक सीमेंट सड़क का निर्माणकार्य शुरू हैं.इस दौरान मानकापुर से पागलखाना आते वक़्त सर्विस रोड के बीचोबीच एक दर्जन वृक्षों को कायम रखा गया,जो आयेदिन दुर्घटनाओं को आमंत्रण दे रहा.साथ ही सड़क की घटिया निर्माणकार्य ( ‘रेडियल वर्क’ में हेराफेरी ) से आवाजाही करने वाले फिसल रहे.आवाजाही करने वाले नागरिकों ने उक्त वृक्षों को हटाने व निर्मित सड़क की जाँच अखिल भारतीय रोड कांग्रेस से करवाने की मांग की.

याद रहे कि कांग्रेस के ज़माने में एनआईटी के पास से सीधी उड़ान पुल मानकापुर चौक के आसपास उतारने के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई थी.लेकिन तत्कालीन मुख्यमंत्रियों के करीबी होटल व्यवसायियों से घनिष्ठता के कारण पुलिया निर्माणकार्य शुरू नहीं हो पाया था,कारण कई दर्जन व्यवसायियों का अवैध निर्माणकार्य टूटना तय था तो कइयों का व्यवसाय ठप होने वाला था.

पिछले ५ वर्ष पूर्व केंद्र व राज्य में भाजपा सरकार आई.इस सरकार ने सदर इलाके की अकारण भीड़ को विभक्त करने के लिए उक्त मंजूर उड़ान पुल के निर्माणकार्य की शुरुआत की.जिसे राष्ट्रीय महामार्ग प्राधिकरण की निगरानी में किया जा रहा.

उक्त सड़क/पुलिया के ठेकेदार कंपनी द्वारा ‘रेडियल वर्क’ में भारी हेराफेरी की,गुणवत्तापूर्ण करने के बजाय ‘मैन्युअल’ करने की वजह से आवाजाही करने वाली योजना सैकड़ों हलके वाहन फिसल रहे और रोजाना दुर्घटनाएं हो रही.जो संभल गया तो पीछे से आ रही वाहनों के लिए परेशानी खड़ी कर रही.उक्त हेराफेरी की अखिल भारतीय सड़क कांग्रेस से निष्पक्ष जाँच की मांग आवाजाही करने वालों ने की हैं.कई सड़क निर्माण क्षेत्र के विशेषज्ञों ने भी मांग को जायज ठहराया हैं.जाँच से दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा।

??

आड़े आ रही दर्जनभर वृक्ष
मानकापुर चौक से पागलखाना चौक आते वक़्त सर्विस रोड पर दर्जनभर वृक्षों को कायम रखा गया.इन वृक्षों से आवाजाही करने वालों को अचानक दुर्घटनाओं से सामना हो रहा.जबकि एनएचएआई ने सड़क/पुल निर्माण के क्रम में लाखों वृक्षों को जायज-नाजायज कारण सामने कर उसका बेदर्दी से क़त्ल कर दिया। आवाजाही करने वाले मांग की हैं कि इन दर्जनभर वृक्षों को तत्काल सर्विस रोड से हटाएं।

इसके बदले आसपास की सरकारी जमीनों पर कई दर्जन वृक्षारोपण कर वातावरण को संतुलित करें।