Published On : Fri, Jun 21st, 2019

दुनिया को दिया स्वस्थ रहने का मंत्र : योग जीवन का वह दर्शन है, जो मनुष्य को आत्मा से जोड़ता है

गोंदिया। योग, जीवन का वह दर्शन है जो मनुष्य को आत्मा से जोड़ता है। योग शरीर को ही रोगमुक्त नहीं करता बल्कि मानसिक एंव बौद्धिक स्तर पर मानव को सशक्त, शांत और ओजस्वी बनाता है। इस प्राचीन पद्धति के बारे में जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से प्रधानमंत्री मोदी के सुझाव के बाद संयुक्त राष्ट्र ने 21 जून अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के रूप में मनाने का ऐलान करते पुरी दुनिया को स्वस्थ रहने का मंत्र दिया।
स्वास्थ्य ही जीवन की असली सम्पत्ति है, इसलिए प्रत्येक को आज निरोगी रहने की आवश्यकता है। तंदुरूस्त जीवन के लिए योग लाभदायक है तथा योगासन के साथ-साथ खानपान में भी सात्विकता लाने की आवश्यकता है। आज दुनियाभर में योग की स्वीकार्यता बहुत तेजी से बढ़ रही है। योग कई बीमारियों को दूर करने का एक रामबाण उपाय है यह विचार, संयम और पूर्ति प्रदान करनेवाला है, कुछ एैसे ही अनमोल विचार मंचासीन अतिथी जिलाधीश डॉ. कादंबरी बलकवड़े, जि.प. मुख्य कार्यपालन अधिकारी राजा दयानिधी व विभिन्न योग समितियों से जुड़े गणमान्यों ने आज शुक्रवार 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस अवसर पर गोंदिया के इंदिरा गांधी स्टेडियम में आयोजित भव्य योग कार्यक्रम दौरान व्यक्त करते हुए ना सिर्फ आयोजन को सराहा बल्कि योग मुद्राएं सीखने पहुंचे नागरिकों के साथ अपने विचार भी साझा किए।

योग प्रेमियों ने मकरासन, भुजंगासन, कपालभाति, सेतुबंध आसन किए

Advertisement

Advertisement

विशेष उल्लेखनीय है कि, नगर की जनता में योग के प्रति खासा रूझान देखा जा रहा है। गत वर्ष की अपेक्षा इस वर्ष पधारने वाले योग प्रेमियों की संख्या अधिक थी, जिनका स्वागत तिलक लगाकर किया गया। साथ ही स्टेडियम की सीढ़ियोें पर कतारबद्ध खड़े पुलिस बैंड पथक द्वारा प्रस्तुत कर्ण मधुर देशभक्ति की धुनों को सुनने का अवसर भी जनता को मिला।

इस भव्य कार्यक्रम में बच्चोंं से लेकर महिला व हर वर्ग के पुरूषों ने उपस्थित रहकर वज्रासन, कपालभाति, सेतुबंध आसन, मकरासान, भुजंगासन, ध्यान, भामरी प्राणायाम आदि आसन किए।

इस अवसर पर जिला क्रीडा प्रशासन व युवक सेवा संचनालय पुणे, जिला खेल अधिकारी गोंदिया तथा जिलास्तर योग समिति व नगर योग उत्सव समिति, अखिल भारतीय गायत्री परिवार, आरोग्य भारती, आर्ट ऑफ लिविंग, ब्रम्हकुमारी ईश्‍वरी विश्‍व विद्यालय, हार्टफुलनेस इंस्टिट्यूट, पतंजली योग पीठ, रामकृष्ण सत्संग मंडल, योग मित्र मंडल जैसी शहर में चलनेवाली 22 योग संस्थाओं के पदाधिकारी व सदस्य अपने-अपने विशेष परिधान (गणवेश) में उपस्थित थे।

विशेष उल्लेखनीय है कि, योगा-डे का यह कार्यक्रम निःशुल्क रखा गया था, स्टेडियम में दाखिल होने के लिए 3 प्रवेश द्वार बनाए गए थे, दुपहिया वाहनों की पार्किंग की व्यवस्था मनोहर म्यू. स्कूल के प्रांगण में रखी गई थी, जबकि चौपहिया वाहनों की व्यवस्था स्टेडियम के चारों ओर उचित स्थान पर की गई। स्वास्थ के प्रति जागरूकता का संदेश योग दिवस के माध्यम से 2 हजार से अधिक उपस्थितों द्वारा दिया गया।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

 

Advertisement
Advertisement
Advertisement