Published On : Sat, Apr 3rd, 2021

सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय का अंतर्राष्ट्रीय रिकॉर्ड

– निर्माण कार्यों की गति प्रतिदिन 37 किमी

– 7 वर्षों में राजमार्गों की लंबाई में 50 प्रतिशत की बढ़ोतरी

नागपुर: सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के नेतृत्व में महामार्ग के निर्माण कार्यों में अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उपलब्धी हासिल की है. मार्च 2021 के आखरी तक महामार्ग मंत्रालय ने प्रतिदिन 37 किमी की गति से राजमार्गों का निर्माण कार्य किया है. विश्व में सबसे ज़्यादा गति से राजमार्गों के निर्माण कार्य करने वाला भारत पहले स्थान वाला देश है.

सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने पिछले कुछ सालों में पूरे देश में राष्ट्रीय राजमार्गों का नेटवर्क स्थापित करने में एक महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई है. पिछले 7 वर्षों में राष्ट्रीय राजमार्गों की लंबाई में 50 प्रतिशत बढ़ोतरी हुई है. 2014 में 91,287 किमी से बढ़कर 1 लाख 37 हजार 625 किमी तक राजमार्गों की लंबाई पहुँच गई है. आर्थिक वर्ष 2015 में 33 हज़ार 414 करोड़ रुपए बजट अलॉट किया गया था. यह आंकड़ा आर्थिक वर्ष 2022 में 1 लाख 83 हजार 101 करोड़ रुपए तक पहुच गया है.

कोविड के समय में भी विकास कार्यों की गति ज़्यादा रही. इस दौरान मंज़ूर किया गए बजट में 126 प्रतिशत बढ़ोतरी हुई है और 2020 की तुलना में आर्थिक वर्ष 2021 में मंजूर की गई लंबाई में 9 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है. सन 2010 से 2014 की तुलना में सन 2015 से 2021 के दौरान प्रकल्पों में 85 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज हुई है, और निर्माण कार्यों में 83 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है. सन 2020 के मार्च महीने तक की तुलना में सन 2021 के अंत तक शुरू रहने वाले प्रकल्पों के अंतर्गत होने वाले निर्माण कार्यों में होने वाली खर्च में 54 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है.

राजमार्ग मंत्रालय के सभी अधिकारी व कर्मचारियों के प्रयत्नों के चलते ही यह उपलब्धियां हासिल की गई हैं, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा. सन 2014 के बाद कई अडचन सामने आए. लेकिन उस पर उपाय योजना कर इस विभाग के अधिकारीयों ने सराहनीय कार्य किया है. हमारी क्षमता काफी ज़्यादा है. लेकिन इसके साथ साथ बड़े लक्ष्य भी सेट करना चाहिए, गडकरी ने कहा. निर्माण कार्यों का बेहतरीन दर्जा और खर्च में बचत लाने के लिए मैंने और अधिकारीयों ने प्रयत्न किया. जल्द ही एक दिन में 40 किमी की गति से हम सड़क निर्माण कार्यों को आगे बढ़ाएंगे, यह विश्वास उन्होंने व्यक्त किया.