Published On : Fri, Jun 15th, 2018

इंटर्न डॉक्टरों की हड़ताल से मेडिकल – मेयो हॉस्पिटल के मरीजों के हाल बेहाल

नागपुर: राज्य के मेडिकल कॉलेज के विद्यार्थी डॉक्टरों ने स्टायफंड की मांग को लेकर 13 जून से अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू की थी. जिसमें शहर के मेडिकल हॉस्पिटल कॉलेज के 200 डॉक्टर और मेयो के 150 डॉक्टर भी शामिल हुए हैं. डॉक्टरों की हड़ताल के कारण मेडिकल और मेयो हॉस्पिटल में इलाज के लिए आनेवाले सैकड़ों मरीज प्रभावित हो रहे हैं.

पिछले वर्ष डॉक्टरों की हड़ताल के कारण मेडिकल हॉस्पिटल में ही कई मरीजों की मौत भी हुई थी. तो वहीं कई ऑपरेशन भी रुक गए थे. इंटर्न डॉक्टरों के हड़ताल में शामिल होने के कारण ऑपरेशन, ओपीडी के साथ ही अन्य विभागों में भी मरीजों और उनके परिजनों को परेशानियों का सामना करना पड़ा.

हालांकि अभी हड़ताल का तीसरा दिन है लेकिन अभी तक डॉक्टरों को सरकार और प्रशासन की ओर से कोई भी सकरात्मक जवाब नहीं मिल पाया है.

जिसके कारण शनिवार 16 जून को सभी डॉक्टरों ने आगे क्या किया जाए, इस विषय को लेकर बैठक की जाएगी. कल होनेवाली बैठक में ही यह संभव हो की डॉक्टर अपनी हड़ताल वापस ले या फिर मांगे नहीं मानने पर इस हड़ताल को आगे बढ़ाएं.