Published On : Tue, Jun 12th, 2018

आप जानकर हैरान हो जाएंगे महाराष्ट्र के इंटर्न डॉक्टरों का वेतन

नागपुर: महाराष्ट्र के इंटर्न्स डॉक्टर्स को 200 रुपए रोजाना यानी केवल 6000 हजार रुपए महीने का वेतन दिया जाता है. जिसके कारण कई वर्षों से यह डॉक्टर्स अपने अधिकार के लिए लड़ रहे हैं. वेतन बढ़ाने की मांग को लेकर कल से 13 जून से राज्य के इंटर्न्स डॉक्टर बेमियादी हड़ताल पर जा रहे है. एसोसिएशन ऑफ़ स्टेट मेडिकल इंटर्न्स महाराष्ट्र के सहसचिव शुभम बोरेकार ने बताया कि 2015 में सरकार ने 6000 रुपए वेतन से बढ़ाकर 11,000 रुपए करने का आश्वासन दिया था. लेकिन लगातार हमने इसकी मांग की फिर भी वेतन बढ़ाया नहीं गया. इस सन्दर्भ में नागपुर में राज्य के मुख्यमंत्री को भी निवेदन दिया गया था. 26 अप्रैल 2018 को इसी सन्दर्भ में संपूर्ण राज्य में इंटर्न्स डॉक्टरों ने प्रदर्शन भी किया था.

2 मई 2018 को वैघकीय शिक्षामंत्री गिरीश महाजन के साथ बैठक हुई थी, जिसमें मंत्री महाजन ने असोसिएशन ऑफ स्टेट मेडिकल इंटर्न्स के प्रतिनिधियों को 15 दिनों में इस मुद्दे को क्लियर करने का आश्वसन दिया था. लेकिन इस बात को 30 से 40 दिन बीत चुके हैं. बावजूद इसके कोई भी निर्णय नहीं लिया गया है. जिसके कारण न चाहते हुए भी महाराष्ट्र के इंटर्न्स डॉक्टरों ने 13 जून से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने का निर्णय लिया है और यह पत्र मंत्री गिरीश महाजन और मेडिकल के डीन को दिया गया है.

डॉक्टरों के हड़ताल पर जाने के कारण इसका सबसे ज्यादा असर मरीजों पर पड़ेगा. डॉक्टरों के हड़ताल पर जाने के कारण राज्य की स्वास्थ सेवा लड़खड़ा सकती है. राज्यव्यापी हड़ताल होने के कारण इसका असर ज्यादा होगा.

डॉक्टर शुभम ने बताया की महारष्ट्र की तुलना में दूसरे राज्यों में इंटर्नशिप डॉक्टर विद्यार्थियों को वेतन अच्छा दिया जाता है. इसमें उत्तर प्रदेश- में 17,900, कर्नाटक- 19,975, पश्चिम बंगाल- 21,000, केरळ- 20,000, आसाम- 20,000,छत्तीस गढ़- 20,000, ओडिशा- 20,000, बिहार- 15,000, आंध्र प्रदेश- 13,000, तेलंगाना-13,000, हरयाणा- 11,800, पंजाब – 9,000, गुजरात- 10,700 है. यानी महारष्ट्र में ही सबसे कम वेतन इंटर्न डॉक्टरों को दिया जा रहा है.