Published On : Mon, May 3rd, 2021

18 वर्ष से अधिक उम्र के नागरिकों ​का टीकाकरण अभियान प्रारंभ

नागपुर: महाराष्ट्र सरकार के दिशानिर्देशों के अनुसार शनिवार से नागपुर में 18 से 44 वर्ष के उम्र के नागरिकों का टीकाकरण शुरू हो गया है. वर्तमान में नागपुर शहर में इंदिरा गांधी अस्पताल गांधीनगर, पाचपावली मैटरनिटी हॉस्पिटल और आयसोलेशन हॉस्पिटल इमामवाडा, यह तीन केंद्रों पर नागरिकों का टीकाकरण किया जा रहा है. शनिवार को महापौर दयाशंकर तिवारी ने गांधीनगर स्थित इंदिरा गांधी अस्पताल में जाकर टीकाकरण व्यवस्था का निरीक्षण किया. इस दौरान अविनाश ठाकरे, धरमपेठ जोन के सहायक आयुक्त प्रकाश वराडे, इंदिरा गांधी अस्पताल के डॉ. निलू चिमुरकर आदि उपस्थित थे. इसके अलावा उपमहापौर मनीषा धावडे ने पाचपावली मैटरनिटी हॉस्पिटल और स्थायी समिति के सभापति प्रकाश भोयर ने इमामवाडा स्थित आयसोलेशन हॉस्पिटल के टीकाकरण केंद्र का निरीक्षण किया.

पाचपावली मैटरनिटी हॉस्पिटल में स्वास्थ्य समिति के भापति महेश महाजन व आयसोलेशन अस्पताल में विरोधी पार्टी के नेता तानाजी वनवे, धंतोली ज़ोन के सभापति वंदना भगत, नगरसेवक विजय चुटेले आदि मान्यवर उपस्थित थे. पहले दिन शनिवार 1 मई को दोपहर दो बजे टीकाकरण की शुरुआत की गई. इसके बाद हर रोज़ सुबह 10 से शाम 5 बजे तक इन तीनों केंद्रों पर टीकाकरण किया जाएगा. शनिवार को शहर के तीनों टीकाकरण केंद्रों पर नागरिकों का उत्साह देखने को मिला.

Advertisement

पहले से पंजीकृत नागरिकों को केंद्र पर सुबह टोकन दिया गया. टीकाकरण केंद्र पर गर्दी न हो और संपूर्ण प्रक्रिया ठीक से हो, इसके लिए टोकन क्रमांक के साथ साथ निर्धारित समय भी नागरिकों को बताया गया. इसके चलते केंद्र पर भीड़ जमा नहीं हुई. टीकाकरण के दौरान अनेक युवकों ने ख़ुशी व्यक्त की और सबको आगे आकर टीका लगवाने का आवाहन किया. इस दौरान महापौर दयाशंकर तिवारी ने कहा कि शुक्रवार को विडिओ कॉन्फरन्सिंग के माध्यम से हुए बैठक में राज्य सरकार ने 1 मई से 18 से 44 वर्ष के उम्र के नागरिकों का टीकाकरण अभियान शुरू करने का निर्देश दिया था.

Advertisement

तदनुसार शनिवार सुबह मनपा अधिकारीयों को वैक्सीन प्राप्त हुआ और तीनों केंद्रों पर टीकाकरण अभियान प्रारंभ किया गया. 15 मई से पूरे शहर में बड़े पैमाने पर वैक्सीन उपलब्ध होगा और टीकाकरण केंद्रों की संख्या भी बढ़ाई जाएगी. वरिष्ठ नागरिकों के टीकाकरण के लिए 16 केंद्र सक्रीय हैं. यह संख्या जल्द बढ़ाकर 50 केंद्रों तक पहुंचेगी, महापौर ने कहा.

Advertisement

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement