Published On : Fri, Oct 26th, 2018

गृह राज्य मंत्री हंसराज अहिर के अपने गृह जिले में लगे वापस जाओ के नारे

शहीद बाबूराव शेडमाके का स्मारक नहीं बनाये जाने से नाराज आदिवासी समाज के लोगो ने किया प्रदर्शन

नागपूर/चंद्रपुर: केंद्रीय गृह राज्य मंत्री हंसराज अहीर को अपने ही गृह नगर में जनता की भारी नाराजगी का सामना पड़ा। हालत यहाँ तक हो गए कि चंद्रपुर से सांसद अहीर को अपने ही संसदीय क्षेत्र में कार्यक्रम से शिरकत करने से रोकने का प्रयास हुआ। उनके सामने ही लोगो ने अहिर साहब वापस जाओ के नारे तक लगाए। दरअसल अहिर क्रांति वीर शहीद बाबूराव शेडमाके के याद में चंद्रपुर जिला कारागृह में चल रहे शहीद दिवस कार्यक्रम में शिरकत करने पहुँचे थे। शहीद बाबूराव शेडमाके आदिवासी समाज से आते थे और उन्होंने ब्रिटिश हुकूमत से लोहा लिया था।

जिन्हे बाद में फांसी दे दी गई। आदिवासी समाज लंबे समय से जिस जगह फांसी दी गई वहाँ उनका स्मारक बनाने की माँग उठा रहे है। समाज के मुताबिक खुद हंसराज अहिर ने और राज्य सरकार ने वर्ष 2013 में जेल के उसी पेड़ के पास भव्य स्मारक बनाने का वादा किया था जिस पर क्रांतिवीर शहीद बाबूराव शेडमांके को अंग्रेजों द्वारा फांसी दे दी गई थी। ये वादा आज भी वादा ही है जिसे लेकर आदिवासी समाज में भारी नाराजगी है।

नाराजगी के बीच हंसराज अहिर ने अपनी तरफ से लोगो को समझाने का प्रयास किया लेकिन प्रदर्शकारी उनकी बात सुनने को तैयार ही नहीं हुए।