Published On : Wed, Jul 22nd, 2020

गृहमंत्री अनिल देशमुख द्वारा बाढे प्रकोप फसलों के हानी खुद लिया जायजा

काटोल : 14-15जुलाई के रात मुसलाधार बारिश के चलते जाम नदी में आयी बाढ़ से पारडसिंगा क्षेत्र के किसानों के खरिफ फसलों का भारी नुकसान हुआ है। खास तौर से काटोल तहसील के पारडसिंगा जि प सर्कल के आदिवासी बाहूल क्षेत्रों के भोरगढ, तथा आजू बाजू के गांव के किसानों के फसलों का सबसे ज्यादा नुकसान हुआ था। इसकी जानकारी स्थानिय जि प सदस्य चंद्रशेखर कोल्हे ने स्थानिय विधायक तथा गृहमंत्री अनिल देशमुख को दिया था।

बाढ से प्रभावित फसलों के नुकसान का सर्वेक्षण करवाने के निर्देश दिये थे। लिए स्थानिय विधायक तथा गृहमंत्री अनिल देशमुख द्वारा प्रशासन को जांच के निर्देश दे दिए थे। किसानों के फसलों के नुकसान का जायगा लेने 20जुलाई को दोपहर तिन बजे मुर्ती क्षेत्र में पहुंचकर यहां के बाढ से प्रभावित किसानों के खेतों में पहुंचकर निरिक्षण किया तथा उपस्थित राजस्व अधिकारियों कों सभी प्रभावित किसानों के खेतों में पहुंचकर सर्वेक्षण कर जांच रिपोर्ट बनाने के आदेश दिये।

इस अवसर पर आदिवासी बाहूल बाढ प्रभावीत किसानों के साथ साथ जि प सदस्य चंद्रशेखर कोल्हे , काटोल के एस डी ओ श्रीकांत उंम्बरकर, तहसील अजयचरडे, नायब तहसीलदार निलेश कदम, स्थानिय गांव के सरपंच एवं पंचायत समीती सदस्य, ग्रा पंचायत सदस्य भी उपस्थित थे!
आदिवासी बाहूल गांव के बाढ़ प्रभावित किसानों के खेतों में अचानक मंत्री तथा वरिष्ठ अधिकारियों का दल देख किसानों ने अपने जनप्रतिनिधि विधायक तथा राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख तथा जि प सदस्य चंद्रशेखर कोल्हे को धन्यवाद दिया तथा प्रभावीत फसलों के नुकसान के मुआवजे की मांग भी की।