Published On : Wed, Sep 11th, 2019

गैर कानूनी ढंग से कामदार को नियुक्त किया गया स्वास्थ्य अधिकारी

क्षुब्ध एवं त्रस्त कर्मियों ने आज किया आंदोलन व प्रशासन को थमाया निवेदन

नागपुर : मनपा के रिक्त पदों पर मनपा प्रशासन सह सत्तापक्ष वरिष्ठता सूची की दरकिनार कर अपने हितैषियों को विराजमान कर रही,यह संगीन आरोप जम्मू आनंद ने आज लगाया।इस क्रम में स्वास्थ्य विभाग में काफी कनिष्ठ सरिता कामदार को विभाग का प्रमुख अधिकारी बनाया गया।इनके व्यवहार से खफा कर्मियों ने पहले मनपा मुख्यालय की हरियाली पर आंदोलन फिर इस संदर्भ में उन्होंने मनपा आयुक्त की अनुपस्थिति ने अतिरिक्त आयुक्त राम जोशी को ज्ञापन सौंप कानूनी कार्रवाई की मांग की।

याद रहे कि मनपा के स्वास्थ्य विभाग के प्रथम 5 शीर्ष पद वर्षो से रिक्त हैं। जम्मू आनंद के अनुसार प्रशासन आर्थिक रूप से खोखला होने के कारण इन पदों को नहीं भर पा रहा। खाली पदों पर वक्रदृष्टि जमाए जुगाड़ू कर्मियों से प्रशासन और सत्तापक्ष की निकटता के कारण काफी कनिष्ठ सरिता कामदार को हेल्थ ऑफिसर बना दिया गया। इसे एमडी सह वरिष्ठ डॉक्टर काफी नाराज हो गए। बनते ही कामदार के सुर सह भाषा बदल गई।

इनकी कार्यप्रणाली से सम्पूर्ण विभाग सह संबंधित अधिकारी/कर्मी खफा हैं। जबकि नियमानुसार रोजनदारी पर तैनात कर्मी को विभाग का शीर्षथ्य पद का प्रभार नहीं जा सकता हैं। कामदार न एमबीबीएस और न ही एमडी हैं, फिर भी मनपा के आला अधिकारी ने सत्तापक्ष के सिफारिश पर गैरकानूनी तरीके से कामदार को मलाईदार पद पर नियुक्ति दी।

आनंद के अनुसार कामदार ने अपनी सर्विस बुक अपने कब्जे में लेकर बिल क्लर्क सेलसुरकर से काला पिला करवाकर अपना रिकार्ड में बदलाव किया। जिसकी जांच पिछले डेढ़ माह से कछुआ गति से जारी है। बिल क्लर्क ने मनपा आयुक्त को गोपनीय पत्र लिख उक्त मामला को सार्वजनिक कर चुका हैं। इसकी जगह आम कर्मी होता तो 24 घंटे में निलंबित कर दिया जाता। उ

क्त मसले को लेकर आज दोपहर मनपा हरियाली में आंदोलन किया गया फिर मनपा आयुक्त की अनुपस्थिति में अतिरिक्त आयुक्त राम जोशी को निवेदन सौंप मामले की शीघ्र जांच कर कार्रवाई की मांग की गई। Q