Published On : Mon, Feb 22nd, 2021

मेडिट्रिना अस्पताल का हार्ड डिस्क जब्त – डॉ.पालतेवार फरार

नागपुर: रामदासपेठ स्थित मेडिट्रिना अस्पताल के संचालक डॉ.समीर पालतेवार पर आर्थिक धोखाधड़ी का आरोप लगने और मामला दर्ज होने के बाद वह फरार हो गया है. रविवार को पुलिस दल ने अस्पताल में प्रवेश कर जांच प्रक्रिया प्रारंभ की. अकाऊंट विभाग के कंप्यूटर की हार्ड डिस्क पुलिस ने जब्त की है. 1 अप्रैल 2019 से 19 फरवरी 2021 के बीच भंडारा के विवेकानंद हटवार, भद्रावती के पुरुषोत्तम खापर्डे और रामटेक के वसंत डाबरे ने मेडिट्रिना अस्पताल में इलाज करवाया था.

डॉॅ.पालतेवार ने तीनों से इलाज के नाम पर काफी पैसा वसूला. उन्होंने कंप्यूटर में पैसों की हेराफेरी कर 5.36 लाख रुपए की धोखाधड़ी की. रेकॉर्ड की जांच करने पर अस्पताल के भागीदार गणेश चक्करवार को इस धोखाधड़ी की बात समझ में आई. उन्होंने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई. आर्थिक अपराध शाखा ने पालतेवार के खिलाफ सीताबर्डी थाने में धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है. पुलिस ने तीनों मरीज़ों का बयान भी लिखा है. पालतेवार को नोटीस देकर पूछताछ के लिए कार्यालय में बुलाया गया, लेकिन वह नहीं आया. पुलिस ने उसके घर और मेडिट्रिना अस्पताल में भी छापा मारा लेकिन वह मिला नहीं.

पालतेवार के बारे में पूछताछ की गई, लेकिन किसी के पास उसके बारे में कोई जानकारी नहीं मिल पाई. पुलिस ने अस्पताल के कंप्यूटर का हार्ड डिस्क जब्त किया है. सायबर विभाग की मदद से हार्ड डिस्क की जाँच की जा रही है. इसके पहले भी पालतेवार के खिलाफ सरकारी योजनाओं के अंतर्गत मरीज़ों पर इलाज करने के बाद बिल निकलकर मोटी रकम वसूल करना और सरकार को धोखे में रखने के मामले सामने आए हैं.