Published On : Wed, Nov 15th, 2017

चुनाव आयोग ने गुजरात भाजपा के टीवी एड में ‘पप्पू’ शब्द के इस्तेमाल पर लगाई रोक

चुनाव आयोग ने गुजरात में सत्तारूढ़ भाजपा के टीवी विज्ञापन में ‘पप्पू’ शब्द के इस्तेमाल पर रोक लगा दी है। ऐसा समझा जाता है कि इसे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को निशाना बनाने के लिए जानबूझकर इस्तेमाल किया गया है। सोशल मीडिया में राहुल पर अक्सर इस शब्द के जरिये ही तंज कसे जाते हैं। इसकी पुष्टि करते हुए भाजपा के सूत्रों ने मंगलवार को कहा, ‘विज्ञापन की स्क्रिप्ट में इस्तेमाल हुआ शब्द किसी व्यक्ति विशेष से संबद्ध नहीं है।’

भाजपा सूत्रों के अनुसार, गुजरात के मुख्य चुनाव अधिकारी (सीईओ) के तहत आने वाली मीडिया कमेटी ने एक विज्ञापन में इस्तेमाल किए गए शब्द पर आपत्ति जताई थी। इस विज्ञापन को पार्टी ने मंजूरी के लिए पिछले महीने आयोग को भेजा था। उन्होंने कहा, ‘किसी भी चुनाव विज्ञापन की स्क्रिप्ट को हमें कमेटी के पास सर्टिफिकेट के लिए भेजना होता है।

हालांकि पप्पू शब्द पर आपत्ति जताते हुए इसे जानबूझकर इस्तेमाल किया बताया गया है। हमें इसे हटाने अथवा बदलने को कहा गया है। पार्टी जल्द ही इस शब्द को हटाकर नई स्क्रिप्ट आयोग की मंजूरी के लिए भेजेगी।’ भाजपा नेता ने कहा, पूरी स्क्रिप्ट में पप्पू को किसी व्यक्ति से सीधे नहीं जोड़ा गया था। हमने कमेटी के समक्ष इस पर फिर से विचार करने की अपील की, लेकिन उन्होंने इसे खारिज कर दिया।

इसलिए हम इसे बदलकर फिर से मंजूरी के लिए भेजेंगे। हालांकि गुजरात के सीईओ बीबी स्वैन ने कहा कि उन्हें इस तरह के किसी घटनाक्रम की फिलहाल जानकारी नहीं है। वह कुछ जानकारी जुटाने के बाद ही इस पर टिप्पणी कर पाएंगे।