Published On : Wed, Mar 11th, 2020

गोंदिया: मजदूर का ‘ मर्डर

‘आपसी रंजिश में खेली खून की होली , 3 गिरफ्तार

होली त्यौहार है मिलजुल कर खुशियां मनाने का , एक दूसरे को प्यार से गले लगाने का , लेकिन इस दिन भी तीन बदमाश होली के रंग में भंग डालने से बाज़ नहीं आए.

सालेकसा थाने से 12 किलोमीटर दूर ग्राम बिंझली में एक मजदूर युवक की लाठी-डंडों से पीट-पीटकर 10 मार्च मंगलवार देर रात निर्मम हत्या कर दी गई। हैरानी की बात यह है कि गांव के चौराहे के टर्निंग सड़क पर तीन बदमाश मजदूर को लाठियों से पीट रहे थे और किसी ने भी आगे आकर उन्हें रोका नहीं , नतीजतन उसकी मृत्यु हो गई जिसके बाद एक परिवार के घर त्योहार की खुशियां मातम में बदल गई।

हैदराबाद की दुश्मनी का बिंझली में बदला
पुलिस ने जानकारी देते बताया, पिछले 4 महीने से मृतक – निलेश धनसिंह लिल्हारे ( 24 , बिंझली) तथा आरोपी- पन्नालाल भरतलाल लिलहारे (30, बिंझली ) यह हैदराबाद में एक कंस्ट्रक्शन कंपनी के साइट पर साथ में मजदूरी का काम कर रहे थे , जहां काम कर रहे थे उस साइट पर नीलेश अौर पन्नालाल के बीच झगड़ा हो गया था जिस पर निलेश ने पन्नालाल के मुंह पर जबरदस्त वार किया था और हमले के बाद वह भाग गया था ।

इस हमले में पन्नालाल के चेहरे के एक हिस्से में फैक्चर हो गया था और यही आपसी रंजिश की वजह बनी।

होली के त्योहार के निमित्त पन्नालाल यह गांव में घूमने आया था इस पर उसका दोस्त प्रवीण ढेकवार ( 35 , बिंझली) तथा प्रकाश भरतलाल लिलहारे ये षड्यंत्र में उसके साथ शामिल हो गए तथा तीनों आरोपियों ने आपसी सांठगांठ के तहत मंगलवार की रात 9 बजे ग्राम बिंझली की टर्निंग सड़क पर से जा रहे निलेश को घेर लिया तथा सिर और शरीर पर लाठी-डंडों से वार किए जिससे उसकी मौके पर ही मृत्यु हो गई , तीनों आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है , हत्या में इस्तेमाल हथियार बरामद होना बाकी है ।

बहरहाल फरियादी – सुनील धनसिंह लिल्हारे की शिकायत पर पकड़े गए तीनों आरोपियों के खिलाफ धारा 302 हत्या , 120 ( ब ) का जुर्म दर्ज किया गया है। मामले की जांच थाना प्रभारी राजकुमार डुणगे कर रहे हैं।

रवि आर्य