Published On : Sat, Aug 22nd, 2020

गोंदिया: हर्षोल्लास से स्वागत , विराजे विघ्नहर्ता

गणपति बप्पा मोरिया के जयकारों से गूंजा शहर

गोंदिया :गणेश उत्सव का पर्व महाराष्ट्र का मूल पर्व है और खासा लोकप्रिय है , श्रद्धालु बेसब्री से विघ्नहर्ता के आगमन का इंतजार करते हैं।

Advertisement

आज 22 अगस्त शनिवार को गणेश चतुर्थी के साथ ही 10 दिवसीय गणेश उत्सव की शुरुआत हो गई है ‌।

Advertisement

इस दौरान आज सुबह से ही उत्सवी माहौल नजर आया ,
गली- गली गणपति बप्पा मोरिया , मंगल मूर्ति मोरिया के जयघोष गूंज रहे थे।

शहर में अनेक स्थानों पर
मूर्तिकारों ने इको फ्रेंडली गणेश प्रतिमाओं के स्टाल लगा रखे हैं श्रद्धालु मूर्तियां लेकर श्रद्धा , उमंग उत्साह के साथ घरों की ओर पहुंच रहे हैं तथा शुभ मुहूर्त में विधि विधान के साथ बप्पा को घरों में विराजमान किया जा रहा है इस दौरान आरती , कथा , मंत्रोचार , भजन के साथ उनका स्वागत हो रहा है।

भगवान श्री गणेश को उनका पसंदीदा गुड़ के मोदक , लड्डुओं का भोग भी लगाया जा रहा है।

विघ्नहर्ता की स्तुति , पंडालों की सजावट पूर्ण
हिंदू धर्म में भगवान श्री गणेश का विशेष स्थान है , कोई भी मांगलिक कार्य गजानन की स्तुति से ही शुरू किए जाते हैं।

बुद्धि , समृद्धि और सौभाग्य के देवता श्री गणेश का चतुर्थी पर्व यूं तो पूरे देश में मनाया जाता है हालांकि इस पर्व की सबसे ज्यादा रौनक महाराष्ट्र में होती है इसलिए गोंदिया में गणेश चतुर्थी पर्व करोना काल के दौरान भी श्रद्धा और हर्षोल्लास के साथ मनाया जा रहा है ।

पंडालों में विघ्नहर्ता की स्तुति आगामी 10 दिनों तक की जाएगी क्योंकि वह विघ्नों को दूर करने वाले और मंगल करने वाले देव हैं इसलिए सुखकर्ता के स्वागत की तैयारियां कुमकुम का स्वास्तिक बनाकर तथा लाल , केसरिया और पीले वस्त्र को पूजा स्थल पर बिछाकर साथ ही रंगोली , फूल , आम के पत्तों और अन्य सजावटी सामग्री से पंडालों की सजावट पूर्ण कर गणपति बप्पा का उमंग और उत्साह के साथ स्वागत किया जा रहा है।

सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम
गणेश उत्सव के त्यौहार को शांतिपूर्ण वातावरण में मनाने हेतु जिला पुलिस प्रशासन ने व्यापक प्रबंध किए हैं ।

गणेशोत्सव दौरान किसी भी हालात पर नियंत्रण हेतु 3 टीमों का गठन किया गया है जो आवश्यकता पड़ने पर संबंधित स्थानों पर भेजी जाएगी तथा जगह-जगह कड़ी नजर रखेगी
साथ ही 4 उपविभागीय पुलिस अधिकारियों की ओर एक- एक ट्रैकिंग फोर्स , जिला पुलिस अधीक्षक एवं अपर पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में एक-एक ट्रैकिंग फोर्स , सी-60 का दस्ता तथा बम रोधी दस्ता भी रहेगा। इसके अलावा विभिन्न थाना क्षेत्रों में होमगार्ड व सुरक्षाकर्मियों को भी तैनात किया गया है जिन्हें मुस्तैद रहने के निर्देश जिला पुलिस प्रशासन द्वारा दिए गए हैं।

रवि आर्य

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement