Published On : Sat, May 29th, 2021

Video गोंदिया: बाढ़ से बचाव को लेकर दिया गया प्री-मानसून प्रशिक्षण

गोरेगांव के कटंगी बांध में रबड़ बोट दौड़ी, प्राकृतिक आपदा से बचाव में मिलेगी मदद

गोंदिया। आमतौर पर बरसात में बांध , नदी , नाले , झरने उफान पर बहते हैं जिला प्रशासन द्वारा जिले के संभावित बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में एहतियातन व्यवस्थाएं की जाती है लिहाज़ा आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा मानसून के दौरान आपदा से बचाव की तैयारी को लेकर 29 मई शनिवार को गोरेगांव के कटंगी बांध में तलाशी एवं बचाव के लिए जागरूकता कार्यशाला का आयोजन किया गया।
प्री-मानसून की घटना जैसे बाढ़ के दौरान डूबने की घटना एवं सुरक्षात्मक उपाय , वज्रपात से बचाव के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई।।

प्रशिक्षण को संबोधित करते जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण अधिकारी ने कहा-इस जागरूकता कार्यक्रम से हमें प्राकृतिक आपदा से बचाव में मदद मिलेगी इस तरह के प्रशिक्षण का बचाव टीम को काफी फायदा होगा।

गौरतलब है कि पिछले वर्ष 2020 में जिले में बाढ़ की स्थिति को ध्यान में रखते हुए, इस वर्ष जिला प्रशासन प्रत्येक तहसील में नागरिकों के लिए खोज और बचाव प्रशिक्षण कार्यक्रम और बाढ़ की स्थिति में सुरक्षा और बचाव पर एक कार्यशाला का आयोजन करेगा।

जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण, गोंदिया द्वारा बाढ़ की स्थिति में जीवन के नुकसान और वित्तीय हानि के प्रभाव को कम करने के लिए कार्यक्रम लागू किया जाएगा। तद्नुसार, बाढ़ की स्थिति में नागरिकों को तत्काल राहत प्रदान करने के लिए जिला खोज एवं बचाव दल द्वारा एक रंगारंग प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया था।

मानसून के दौरान होने वाली विभिन्न आपदाओं से बचाव के लिए आयोजित कार्यशाला में अधिकारी राजन चौबे , नागपुर के मोजेस कान्द्रा, निकेश चिखलोंडे, शोध बचाओ पथक के सदस्य किशोर टेंभुर्ने, नरेश उके, राजकुमार बोपचे, जसवंत रहांगडाले, रवि भंडारकर, संदीप कराड़े, दीनू दीप, इंद्रकुमार बिसेन, चुन्नीलाल मुटकुरे, चिंतामन गिरेपुंजे आदि शामिल हुए।

विशेष उल्लेखनीय है कि प्री-मानसून तैयारियों के संबंध में ग्राम स्तर पर जिला आपदा प्रबंधन समिति का गठन किया गया है साथ ही, मौसम विभाग और बाढ़ की स्थिति के बारे में व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से नागरिकों को जानकारी प्रदान करने के लिए तहसील और ग्राम स्तर पर व्हाट्सएप ग्रुप बनाए जा रहे हैं।

रवि आर्य