Published On : Sat, May 29th, 2021

गोंदिया: नई RTPCR टेस्टिंग मशीन आने से परीक्षण का दायरा बढ़ेगा

मौजूदा केपेसिटी 1500 प्रतिदिन से बढ़कर 2200 पर पहुंचेगी

गोंदिया जिले में कोरोना की RTPCR टेस्टिंग पर जोर देने तथा परीक्षण का दायरा बढ़ाने के लिए कलेक्टर दीपक कुमार मीणा ने एक अहम कदम उठाते हुए नई ऑटोमेटिक RNA Extraction मशीन खरीदने को अनुमति प्रदान की है।

इस संदर्भ में गोंदिया मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ. नरेश तिरपुड़े ने नागपुर टुडे को जानकारी देते बताया- लगभग 33 लाख रुपए लागत की मशीन सेंशन हो गई है कलेक्टर साहब ने इसे मंजूर प्रदान की है , अगले 7 दिन में यह नई मशीन आयेगी और गोंदिया मेडिकल कॉलेज के वायरोलॉजी रिसर्च लैब में इसे 2 दिनों के भीतर इंस्टॉल कर लिया जाएगा।
इस मशीन के स्थापित हो जाने के बाद प्रतिदिन RTPCR परीक्षण का दायरा 2000 से 2200 के आंकड़े तक पहुंच जाएगा।

डॉ.तिरपुड़े ने बताया- इसके पहले मैन्युअल मशीन थी तो उस में टाइम लगता था जिसकी हार्डली कैपेसिटी 300 से 500 सैंपल जांचने की थी , तत्पश्चात सिंगापुर से एक ऑटोमेटिक rt-pcr टेस्टिंग मशीन बुलाई गई जिसे वायरोलॉजी रिसर्च लैब में इंस्टॉल किया गया जिसके बाद दैनिक परीक्षण का दायरा प्रतिदिन 1200 से 1500 तक पहुंचा अब इस मशीन के आ जाने के बाद RTPCR टेस्टिंग का आंकड़ा बढ़कर 2000 से 2200 प्रतिदिन तक पहुंच जाएगा।

मौजूदा वक्त में जिले के 12 rt-pcr सेंटरों से सैंपल कलेक्ट होकर विशेष एंबुलेंस द्वारा वायरोलॉजी टेस्टिंग लैब में आते हैं जहां इनका परीक्षण होता है।

24 घंटे में रिपोर्ट अभी भी उपलब्ध हो रही है लेकिन इस मशीन के आने के बाद सैंपल का दायरा बढ़ाया जाएगा , कल एक स्कूल का एसेसमेंट किया गया जिसमें 200 से 250 बच्चों की स्क्रीनिंग की गई इसी प्रकार की स्क्रीनिंग आगे भी जारी रहेगी।

अब तो ऑनलाइन सिस्टम भी डेवलप हो गया है और एक ऐप भी बनाया गया है उसमें भी संबंधित व्यक्ति अपनी रिपोर्ट देख सकता है।

विशेष गौरतलब है कि गोंदिया नगर परिषद मुख्य अधिकारी ने अधिसूचना जारी करते हुए ग्राहकों के निरंतर संपर्क में आने वाले किराना , फल , सब्जी , दूध, बेकरी सहित ऑटो चालक व अन्य व्यापारियों के लिए नेगेटिव rt-pcr जांच रिपोर्ट साथ रखना अनिवार्य किया गया है इसलिए इन व्यापारियों को हर 15 दिन में RT-PCR पद्धति से जांच कराना और संक्रमण मुक्त होने की रिपोर्ट दिखाना अनिवार्य होगा। निर्देशानुसार 15 दिन के अंदर की नेगेटिव जांच रिपोर्ट मान्य होगी।

रवि आर्य