Published On : Fri, May 8th, 2020

गोंदिया: बंदूक के दम पर ढाई लाख के आभूषण लूटने वाला गिरोह पकड़ाया

दो डकैत गिरफ्तार, देसी कट्टा जिंदा कारतूस मिले

गोंदिया: अपराधी कितना ही शातिर और चालाक क्यों न हो, लेकिन कानून के शिंकजे से नहीं बच सकता। देर-सवेर ही सही पुलिस के हाथ उसके गिरेबान तक पहुंच ही जाते है। गोंदिया जिले की आमगांव तहसील के ग्राम बनगांव में 3 फरवरी के रात 11.45 बजे के दरमियान बंदूक की नोंक पर घटित डकैती की वारदात का पर्दाफाश करते हुए आखिरकार पुलिस ने 2 शातिर आरोपियों को हवालात के पीछे पहुंचा दिया है।

वाक्या कुछ यूं है कि, पेशे से सरकारी कर्मचारी फिर्यादी भुवन गिरी (52, रा. बनगांव) का परिवार रात्रि भोजन पश्‍चात घर में विश्राम कर रहा था, इसी बीच रात 11.45 बजे दरवाजे पर किसी ने आवाज देकर दस्तक दी। फिर्यादी के बेटे ने दरवाजा खोला तो सामने खड़े नकाबपोश ने बंदूक जैसा हथियार तान दिया और घर में दाखिल होकर सोफे पर बैठ गया तथा समूचे परिवार को हथियार के दम पर डराते-धमकाते हुए घर में रखे जेवर और नकदी सामान लाकर रखने को कहा। डरे-सहमे परिवार की महिला सदस्य ने तिजोरी से गहने निकाले और लाकर सौंप दिए। इस तरह अज्ञात नकाबपोश डकैत यह 2 लाख 47 हजार के स्वर्णाभूषण लेकर फरार हो गया।

फिर्यादी ने आमगांव थाने पहुंच अज्ञात नकाबपोश के खिलाफ धारा 392, 452, 506 के तहत जुर्म दर्ज कराया। प्रकरण की जांच जारी थी इसी बीच पुलिस को खबरी से यह जानकारी मिली कि, इस मामले में बनगांव निवासी मोहम्मद अख्तर नामक व्यक्ति शामिल हो सकता है? पुलिस ने उक्त व्यक्ति के संदर्भ में संपूर्ण जानकारी हासिल की जिसके बाद उसे 6 मई को डिटेन किया गया। पुलिस की पूछताछ में उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया। आरोपी की 9 मई तक पुलिस रिमांड स्वीकार की गई। कस्टडी में कड़ी पूछताछ के दौरान मोहम्मद अख्तर ने पुलिस को बताया कि, विनम्र उर्फ नितिश नामक युवक के साथ मिलकर उसने डकैती का षड़यंत्र रचा और वारदात को अंजाम देने के बाद अब वह कहां रह रहा है, उसके बारे में उसे कोई जानकारी नहीं है?

इसी बीच पुलिस को आरोपी विनम्र उर्फ नितिश के कुछ दिन आमगांव में रहने के बाद वर्तमान में देवरी में होने की जानकारी मिली। आरोपी को पकड़ने के लिए देवरी में तलाश शुरू की और देवरी के पंचशील चौक पर वह घुमते हुए पाया गया। जैसे ही पुलिस टीम आरोपी को पकड़ने के लिए आगे बढ़ी, उसने अपने पास मौजुद देशी कट्टा निकाला और पुलिस को दिखाकर भागने का प्रयास करने लगा लेकिन पुलिस टीम ने उसे धरदबोच लिया, साथ ही उसके पास से देशी कट्टा तथा 2 जिंदा कारतूस भी बरामद किए गए। अब वह 9 मई तक पुलिस की कस्टडी में है। गिरफ्तार किए गए दोनों आरोपियों के पास से लगभग 80 ग्राम के स्वर्ण आभूषण भी जब्त कर लिए गए है।

उक्त कार्रवाई पुलिस अधीक्षक मंगेश शिंदे , उपविभागीय पुलिस अधिकारी अतुल कुलकर्णी, जालींदर नालकुल के मागर्र्दर्शन में सहायक पुलिस निरीक्षक श्यामराव काडे, पुलिस निरीक्षक संतोष जाधव, पो.ह. रामेश्‍वर बर्वे, आनंद भंडारकर, युवराज सव्वालाखे, पो.ना. खुशाल पेंदाम, पोसि अरूण उके, सुरेंद्र लांजेवार तथा साइबर सेल के दिक्षीत दमाहे की टीम ने की।

रवि आर्य