Published On : Thu, Jun 11th, 2020

गोंदिया:: खनन माफियाओं के गिरेबान पर हाथ डालने गए राजस्व अधिकारियों पर हमला

कार पर पथराव से शीशे टूटे , लगी चोट: मामला दर्ज

गोंदिया : रेती की उपलब्धता ना होने की वजह से इन दिनों गोंदिया जिले में रेती के दाम आसमान छू रहे हैं , लिहाजा रेती तस्करी के गोरख धंधे में कई दबंग प्रवृत्ति के लोग हाथ आजमा रहे हैं ।

गोंदिया तहसील में बहने वाली बाघ नदी के तेढ़वा घाट से बड़े पैमाने पर गैरकानूनी रूप से खनन माफियाओं द्वारा अवैध उत्खनन किया जा रहा है तथा इस चुराई गई रेती को गोंदिया शहर की सीमाओं में लाकर बेचा जा रहा है इस बात की पुख्ता सूचना मिलने के बाद नायाब तहसीलदार सचिन पाटिल आज 11 जून गुरुवार की सुबह 6 बजे राजस्व विभाग के 4 पटवारियों गिरधारी सोनवाने (कासा ) सुनील राठौड़ (अदासी) पटवारी हटवार ( दवनीवाड़ा ) और पटवारी बूचे के साथ प्राइवेट मारुति कार क्रमांक NH 35 / AG- 1848 में सवार होकर तेढ़वा घाट पहुंचे ।

तेढ़वा घाट पर ट्रैक्टर और मेटाडोर टिप्पर क्रमांक MH 35 / AJ-2331 में रेती भरी जा रही थी , जिस पर राजस्व अधिकारियों ने खनन माफियाओं को ललकारा तो दोनों ओर से उलझन निर्माण हो गई और हल्की धक्का-मुक्की होने पर गुस्साए हमालों ने राजस्व अधिकारियों पर पथराव शुरू कर दिया जिससे खुद को बचाने का प्रयास करते उन्होंने कार की आड़ ली जिससे पत्थर कार पर बरसे और कार के शीशे चटक गए वही एकाद पत्थर किसी अधिकारी को लगा बताया जाता है।

इस दौरान रेती लदा ट्रैक्टर दबंगिरी से गांव वाले ले कर चल दिए।
बताया जाता है कि इनमें एक ट्रैक्टर का एग्रीमेंट किसी गांव वाले के नाम पर है।
इस मामले पर कुछ तेढ़वा- मरारटोला निवासी ग्रामीणों का कहना रहा कि-गांव के घरकुल योजना के लिए गांव वालों को थोड़ी बहुत परमिशन रहती है हम लोग घरकुल योजना के लिए रेती भरकर लेकर जा रहे हैं और पकड़े जाने पर अधिकारियों से कहां जाने दो साहब…? लेकिन उन्होंने एक ट्रैक्टर हमाल- सुकलाल केनावत पर हाथ छोड़ दिया, इसी से अन्य हमालों को गुस्सा आया , अब हम भी रावनवाड़ी थाने में अपनी काउंटर रिपोर्ट देना चाहते हैं लेकिन पुलिस स्वीकार नहीं कर रही ?


हमने इस समूचे प्रकरण पर रावनवाड़ी थाना प्रभारी वांगडे को बात की तो उन्होंने कहा – अभी मामला दाखिल हो रहा है , रिपोर्ट दर्ज हो जाने के बाद मिडिया को समूची जानकारी दी जाएगी।

गौरतलब है कि चार-पांच दिन पूर्व गोंदिया के रिंग रोड पर नायाब तहसीलदार द्वारा एक रेती लदा ट्रैक्टर पकड़ने पर 2 दबंग खनन माफियाओं ने उनसे बदसलूकी की , मामला ग्रामीण थाने के दहलीज तक जा पहुंचा लेकिन आपस में सेटलमेंट हो जाने पर , राजस्व अधिकारी द्वारा रिपोर्ट डाली नहीं गई।
अगर उसी दिन दबंगों के खिलाफ मामला दर्ज करा दिया जाता तो आज इस तरह की घटना सामने नहीं आती ऐसा जानकारों का मानना है।

रवि आर्य