Published On : Thu, Jun 10th, 2021

गोंदिया: नक्सलियों के गढ़ में पुलिस ने लगाया आदिवासियों के लिए स्वास्थ्य शिविर

वीर बिरसा मुंडा बलिदान दिवस पर आयोजन, 1469 हुए लाभान्वित

गोंदिया: नक्सल प्रभावित गोंदिया जिले के जंगल क्षेत्र से घिरे आदिवासी गांवों में स्वास्थ्य से जुड़ी अनेक सेवाएं पहुंचाने के उद्देश्य से बुधवार 9 जून 2021 को ‘ वीर बिरसा मुंडा बलिदान दिवस ‘ अवसर पर स्वास्थ्य विभाग और जिला पंचायत गोंदिया के सहयोग से संवेदनशील गांवों में गरीब आदिवासियों के लिए स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया गया। दरेंकसा, बिजेपार, पिपरिया, पालंदूर जमि. घोनाड़ी, चिचगड, धाबेपवनी, गोठनगांव, शेंडा सहित कुल 16 चिकित्सा अधिकारी मोबाइल स्वास्थ्य टीमों के माध्यम से रोग के विशेषज्ञों ने शिविर में रोगियों की ना सिर्फ जांच की बल्कि उन्हें दवाई भी दी गई।

पुलिस व पब्लिक मैत्री को सशक्त बनाने के लिए आयोजित इस स्वास्थ्य शिविर में कुल 1469 नागरिक लाभान्वित हुए ।
नागरिकों का कोविड रैपिड एंटीजन और rtpcr टेस्ट, रक्त परीक्षण , मलेरिया , टाइफाइड , ब्लड प्रेशर , शुगर आदि की जांच की गई ।
स्वास्थ्य शिविर कार्यक्रम के दौरान शारीरिक/ सामाजिक दूरी, मास्क के उपाय नियमों का पालन किया गया साथ ही कोरोना वायरस के संदर्भ में विस्तृत जानकारी देकर वायरस से बचाव हेतु उचित मार्गदर्शन किया गया।

गौरतलब है कि जिला पुलिस अधीक्षक विश्व पानसरे , अप्पर पुलिस अधीक्षक अशोक बनकर के विशेष मार्गदर्शन में उग्रवाद प्रभावित क्षेत्रों में आदिवासी समाज को मुख्यधारा से जोड़ने के लिए तथा आदिवासियों में सरकार और पुलिस प्रशासन के प्रति विश्वास और स्नेह बढ़ाने के लिए बेहतर शिक्षा के साथ रोजगार के संसाधनों से जुड़े परीक्षण भी दिए जाते रहे हैं।

नक्सल प्रभावित क्षेत्रों के नागरिक , माओवादियों की भ्रांतियों के झांसे में न आएं तथा सरकारी योजनाओं का लाभ उठाकर अपना जीवन आसान बनाएं और सरकार की मुख्यधारा से जुड़ें ऐसी अपील जिला पुलिस अधीक्षक विश्व पानसरे ने जिले की जनता से की है।

रवि आर्य