Published On : Wed, Sep 4th, 2019

गोंदिया:अन्न वितरण प्रणाली के बिगड़े सिस्टम पर अधिकारियों की जमकर खिंचाई

जिले में पहली बार पालकमंत्री की अध्यक्षता में हुई जिला दक्षता समिति की बैठक

गोंदिया: पालकमंत्री डॉ. परिणय फुके की अध्यक्षता में हुई जिला दक्षता की बैठक में पालकमंत्री अधिकारियों पर जमकर बिफरे। अन्न वितरण प्रणाली के बिगड़े सिस्टम से पालकमंत्री ने नाराजी व्यक्त की और अधिकारियों की खिंचाई की।

ये गोंदिया जिले के लिए पहला अवसर है कि इस समिति के अध्यक्ष पालकमंत्री की मौजूदगी में इस दक्षता समिति की बैठक हुई है। अब तक दक्षता की बैठक समिति के उपाध्यक्ष के रूप में जिलाधिकारी या सदस्य सचिव जिला पुरवठा अधिकारी ही उपस्थित होते थे। परंतु पालकमंत्री डॉ. परिणय फुके ने इस समिति की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी का निर्वहन कर बैठक में उपस्थित होकर यंत्रणा का जायज़ा लिया।

बैठक में पालकमंत्री ने सार्वजनिक वितरण व्यवस्था के तहत राशन दुकान,विविध योजनाओ के तहत राशनकार्ड धारकों को वितरित हो रहे अन्न वाटप, शालेय पोषण आहार, गोदामो की स्तिथि, राष्ट्रीय अन्न सुरक्षा अधिनियम अंतर्गत अंत्योदय अन्न योजना, प्राधान्य कुटुंब योजना के बारे में जानकारी ली।
पालकमंत्री ने बैठक के दौरान जिला आपूर्ति अधिकारी, जिला मार्केटिंग अधिकारी को लताड़ लगाते हुए कहा कि, धान गोदामों में रखे -रखे खराब हो रहा है, जिससे उसका जीवस्त्व निकृष्ट हो रहा है। समय पर धान की मिलिंग नही हो रही है। पुरा सिस्टम नियमों के तहत कार्य नही कर रहा है। पालकमंत्री ने कहा धान मिलिंग के लिए सिर्फ चुनिंदा राइस मिल्स के लोगो को कार्य दिया जा रहा जिससे चावल की क्वालिटी खराब हो रही है। धान मिलिंग का कार्य 15 दिनों के भीतर होना चाहिये, और ये सभी को वितरित होना चाहिए।

इस दौरान, स्कूलों को जो राशन, राशन दुकानों से वितरित होता था उसे बंद कर दिया गया है। इसे पुनः प्रारम्भ करने की जानकारी पालकमंत्री को दी गई। पालकमंत्री ने अहवाल प्रस्तुत कर पुनः इस प्रक्रिया को शुरू करने के निर्देश दिए।

बैठक में तिरोड़ा के विधायक विजय रहांगडाले, जिला परिषद के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ. राजा दयानिधि, प्रभारी जिला आपूर्ति अधिकारी राहुल खांडेभराड़, व सभी अधिकारी सहित जिले की तहसीलों के अधिकारी उपस्थित थे।

रवि आर्य