Published On : Sun, Mar 22nd, 2020

गोंदिया मैं सुबह 5 बजे तक जनता कर्फ्यू , धारा 144 लागू

आज रात 9 बजे के बाद भी घरों से बाहर ना आने की अपील

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्य में धारा 144 लागू करने का ऐलान किया गया है साथ ही जनता कर्फ्यू को भी सोमवार 23 मार्च सुबह 5 बजे तक बढ़ा दिया गया है।

धारा 144 के तहत बस और सभी ट्रेनों को 31 मार्च तक रोक दिया गया है एसटी और निजी पब्लिक ट्रांसपोर्ट की बसें भी नहीं चलेंगी। इस तरह महाराष्ट्र में सिर्फ पूरी तरह से लाक डाउन से ही कोरोना को हराया जा सकता है , केवल आवश्यक सेवाएं ही खुली रहेंगी।

5 लोगों के साथ आने पर सख्ती की गई

जिला आपदा व्यवस्थापन अधिकारी राजन चौबे ने बताया- जनता कर्फ्यू को महाराष्ट्र सरकार द्वारा कल 23 मार्च सुबह 5:00 बजे तक आगे बढ़ा दिया गया है इसलिए सभी से निवेदन और आग्रह है कि आज रात 9:00 बजे भी घरों से बाहर ना निकलें , क्योंकि गोंदिया के शहरी भागों में धारा 144 लागू की गई है जिसके तहत 5 लोगों के साथ आने पर सख्ती की गई है और गोंदिया जिले के तहसील स्तर के सभी नगर परिषद क्षेत्र और नगर पंचायत क्षेत्र में भी इसे अमल में लाया गया है ।

करोना वायरस के संक्रमण से जारी इस लड़ाई में जिला प्रशासन का जनता सहयोग करें।


गोंदिया जिले में 593 ऑब्जरवेशन मे

 

जिला आपत्ती व्यवस्थापन की अध्यक्षा गोंदिया कलेक्टर डाॅ. कादंबरी बलकवड़े के मार्गदर्शन में प्रतिबंधात्मक उपाय योजना को जिले में अमल में लाया जा रहा है इसी बचाव- सुरक्षा के मुद्देनजर सक्षम नोडल अधिकारी की नियुक्ति की गई है जो लगातार बाहर से आने वाले लोगों पर नजर बनाए हुए हैं ।

22 मार्च 2020 की शाम 4:00 बजे तक अधिकृत नोडल अधिकारी कार्यालय की ओर से जानकारी देते बताया गया है कि 114 व्यक्तियों की विदेश यात्रा हुई है जिनका मेडिकल टेस्ट व स्क्रीनिंग की गई जो पूर्ण रूप से इस संक्रमण से सुरक्षित है , 479 व्यक्ति इन लोगों के संपर्क में आए हैं लिहाज़ा इन सभी कुल 593 को उनके निवास स्थान पर अलग कर दिया गया है इनमें से 5 व्यक्तियों की चिकित्सा जांच रिपोर्ट नकारात्मक रही , सभी व्यक्तियों की दैनिक नियमित जांच की जाती है और उनमें से कोई भी व्यक्ति को आज तक कोरोना के लक्षण नहीं पाए गए और जिले में कोरोना के संक्रमण से एक भी ग्रस्त नहीं है।

जिला आपत्ती व्यवस्थापन अधिकारी राजन चौबे ने कहा- जो व्यक्ति नेगेटिव है लेकिन 14 दिनों के ऑब्जरवेशन में है इसलिए उन्हें टोटली एक प्रबुद्ध नागरिक होने के नाते अपनी जिम्मेदारी समझते हुए दूसरों के टच में ना आएं तथा 14 दिन तक अकेले रहें और कोई घबराने की बात नहीं है।

रवि आर्य