Published On : Sat, Sep 5th, 2020

गोंदिया: सांसद प्रफुल्ल पटेल ने बाढ़ प्रभावित इलाकों में हुए नुकसान का लिया जायज़ा

तत्काल पंचनामा रिपोर्ट तैयार कर प्रभावितों को मुआवजा देने के निर्देश

गोंदिया जिले में बाढ़ की स्थिति के कारण बड़ी संख्या में मकान ढह गए हैं खेतों में खड़ी हजारों हेक्टेयर धान की फसलों को भारी क्षति पहुंची है , जिससे किसानों को बड़े पैमाने पर आर्थिक नुकसान हुआ है , सरकार ने बाढ़ पीड़ितों को मुआवजा देने की घोषणा की है। यह सुनिश्चित करने के लिए ध्यान रखें कि कोई भी मुआवजे से वंचित न हो और गैर-भेदभावपूर्ण सर्वेक्षण तत्काल करने के निर्देश सांसद प्रफुल्ल पटेल ने राजस्व और कृषि विभाग अधिकारियों को दिए।

गौरतलब है कि गत सप्ताह 26 से 29 अगस्त के बीच जिले में हुई भारी बारिश ने गोंदिया और तिरोड़ा तहसील सहित जिले के कई अन्य गांवों को प्रभावित किया।

आज 5 सितंबर शनिवार को सांसद प्रफुल्ल पटेल ने गोंदिया तहसील के बाढ़ प्रभावित ग्राम सायटोला, मुरदाड़ा, महालगांव, लोधीटोला, धपेवाड़ा, देवरी, किन्ही, तेढवा, कासा, बिरसोला, भाद्दियाटोला , आदि गांवों का दौरा किया तथा हुए नुकसान का जायज़ा लेने के बाद उन्होंने ग्रामीणों के साथ बातचीत की।

बाढ़ से क्षतिग्रस्त घरों के साथ-साथ मवेशी तबेलों सहित वास्तविक रुप से बाढ़ से क्षतिग्रस्त हुई धान की फसलों का निरीक्षण किया।

उन्होंने उपस्थित राजस्व और कृषि विभाग के अधिकारियों को हुए नुकसान का उचित और योग्य सर्वेक्षण करते हुए एक भी बाढ़ प्रभावित व्यक्ति के साथ अन्याय ना हो तथा बिना भेदभाव पूर्ण तरीके से सूची तैयार की जानी चाहिए और गाँव के व्यक्तियों का नाम इससेे नहीं छोड़ा जाना चाहिए इस बात के निर्देश भी साफ तौर पर देते कहा- जिनके घर बाढ़ के कारण पूरी तरह से ढह गए हैं, उन्हें प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत मकान दिए जाने चाहिए। उन्होंने संबंधित अधिकारियों से कहा कि जिनके घर आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त थे और जिनके घर बाढ़ के पानी के कारण क्षतिग्रस्त हो गए थे, उन्हें तत्काल राहत और मुआवजा प्रदान करें। उन्होंने तहसीलदारों को सरकार के मानदंडों के अनुसार बीपीएल और निराश्रित परिवारों को तत्काल सहायता प्रदान करने का निर्देश दिया। उन्होंने युद्ध स्तर पर पंचनामा कार्यवाही को पूरा करके तत्काल सहायता प्रदान करने की प्रणाली पर अमल करने को भी कहा।

बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा करते वक्त सांसद प्रफुल्ल पटेल के साथ पूर्व विधायक राजेंद्र जैन, पूर्व-सांसद खुशाल बोपचे, पंचम बिसेन, राजलक्ष्मी तुरकर, विनोद हरिणखेड़े, रविकांत बोपचे, घनश्याम मस्करे, देवेंद्रनाथ चौबे, कुंदन कटारे, बालकृष्ण पटले, राजू एन. जैन, कल्लू मस्करे, केतन तुरकर, जितेश टेंभरे , गोविंद तुरकर , कैलाश पटेल, प्रकाश देवधारी, प्रदीप रोकड़े, रजनी गौतम, कालू चौहान, सुनील पटले, कृष्णकुमार जायसवाल, अंचल गिरी, सचिन मेश्राम, सतीश कोल्हे, महेंद्र बघेले, आरजू मेश्राम, माणिक पडवार और अन्य उपस्थित थे।

रवि आर्य