Published On : Wed, Dec 18th, 2019

गोंदियाः फिरौती के खेल में दिया कत्ल को अंजाम

गोंदिया। गोंदिया के कुड़वा इलाके में आपसी रिश्तेदारी शर्मसार हुई। यहां एक टीचर के बेटे को उसी के रिश्ते में भाई लगने वाले युवक ने अपने ३ दोस्तों के साथ मिलकर ३० लाख की फिरौती के लिए अगवा कर लिया और फंसने के डर से कत्ल कर लाश चट्टाननुमा बड़े पत्थर से बांधकर बाघनदी में फेंक दी।

इस जघन्य हत्याकांड में रामनगर पुलिस ने ४ आरोपियों को गिरफ्तार किया है जिनकी उम्र १९ से २१ वर्ष के बीच है, याने जो उम्र पढ़ने की है, उस उम्र में ये टपोरीगिरी करते हुए घुमते थे तथा काम-धंधा कुछ न होने के बावजूद इन्होंने शौक बड़े महंगे पाल रखे थे।

अपने इसी महंगे शौकपूर्ति की चाहत को पूरा करने के लिए चारों ने खुराफाती दिमाग दौड़ाया और एक टीचर के लड़के की किडनेपिंग का प्लान बनाया और वारदात को अंजाम देने के लिए एक चार चक्का गाड़ी का इंतजाम किया।

आरोपियों में एक युवक अंकित यह मृतक सौरभ के मामा का लड़का है जिसे इस बात की जानकारी थी कि, सौरभ गोंदिया के इंजिनियरिंग कॉलेज का छात्र है और वह रिंग रोड स्थित अपने रिश्तेदार के यहां रहकर पढ़ाई कर रहा है।

१५ दिसंबर के दोपहर परिचय का लाभ उठाते अंकित ने सौरभ के मोबाइल पर फोन लगाया और उसे इंजिनियरिंग कॉलेज के निकट मिलने को कहा। सौरभ दोपहर २ बजे बाइक से पहुंचा जिसपर अंकित ने कहा- चल मांडोदेवी देवस्थान घुमकर आते है, यह कहते हुए अंकित ने सौरभ को कार में बैठने को कहा।

रिश्ते में भाई पर विश्‍वास करते हुए सौरभ ने अपनी बाइक इंजिनियरिंग कॉलेज के पीछे लगा दी और चार चक्का वाहन में बैठ गया। गाड़ी में पहले से कुछ युवक बैठे थे।

फंसने के डर से कत्ल कर लाश नदी में फेंकी

रास्ते में आरोपियों ने बियर की बोतलें खरीदी और वे गाड़ी में ही पीने लगे , ३ तहसीलों के चक्कर लगाने के बाद जब सांझ ढली तो नशे की अवस्था में एक युवक ने सौरभ से झगड़ा शुरू किया क्योंकि सौरभ मुझे घर जाना है, की रट लगा रहा था। आक्रोशित आरोपी ने सौरभ के सिर पर कांच की खाली बोतल से जबरदस्त प्रहार किया जिससे सौरभ का सिर फट गया और वह लहूलूहान हो गया। सौरभ की खराब होती सेहत देख अपहरणकर्ताओं के हौसले पस्त हो गए, अंकित को भय था कि, अगर इसे अस्पताल में भर्ती कराया गया तो वह सारे राज खोल देगा? लिहाजा फर्निचर में इस्तेमाल होने वाला टेप खरीदा और कहार रहे सौरभ के मुंह पर आरोपियों ने उसे चिपकाकर उसका मुंह बंद कर दिया जिससे उसे सांस लेने में तकलीफ होने लगी और दम घुटने लगा। कुछ देर छटपटाने के बाद सौरभ की मृत्यु हो गई।

इसके बाद शव को ठिकाने लगाने और सबूत नष्ट करने का आरोपियों ने प्लान बनाया तद्हेतु उन्होंने मुंडीपार स्थित चमदा घाट को चिन्हित किया और एक चादरनूमा बड़े सफेद गमछे में शव को २० किलो से अधिक वजनी पहाड़ी पत्थर के साथ बांधा और पूल की ऊंचाई से लाश बाघनदी में फेंक दी।

मोबाइल के कॉल डिटेल से खुला रा़ज

इधर बेटे के घर न पहुंचने पर गोंदिया निवासी रिश्तेदार ने सूचना सौरभ के पिता को दी, जिन्होंने १६ दिसंबर को रामनगर थाना कोतवाली पहुंच गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करायी, पुलिस ने लापता सौरभ के मोबाइल को ट्रेस करते उसका सीडीआर निकाला। कॉल डिटेल रिकार्ड से पता चला कि आखिरी कॉल अंकित का था, उसके बाद मोबाइल स्वीच ऑफ हो गया।

जिला पुलिस अधीक्षक मंगेश शिंदे, उपविभागीय पुलिस अधिकारी जगदीश पांडे के मार्गदर्शन में रामनगर थाना प्रभारी प्रमोद घोंगे, सहा. पुलिस निरीक्षक श्यामराव काड़े, सापोनि. मते, सापोनि. इंगले की टीम यह इंजिनियरिंग कॉलेज के आसपास इलाके में तफ्तीश करने पहुंची तो उन्हें सौरभ की बाइक लावारिस अवस्था में मिली, जिसके बाद पुलिस ने अंकित को उठाया।

शुरूवात में पुलिस को वह सहयोग नहीं कर रहा था लेकिन वर्दी के रौब के आगे वह टिक नहीं सका। फिर उसके साथ कौन-कौन था? यह जानकारी हासिल करने के बाद पुलिस ने ग्राम बटाना निवासी ३ युवक- चितेश्‍वर, राजू और गजेंद्र को अपने शिंकजे में लिया।

वारदात में इस्तेमाल वाहन बरामद होना बाकि
मामले की जांच कर रहे पुलिस अधिकारी श्यामराव काड़े ने बताया, आरोपियों का मकसद सौरभ के टीचर पिता से ३० लाख की फिरौती मांगना था और उगाही के लिए वे १५ दिस.

के रात सौरभ के पिता को कॉल करने वाले थे, लेकिन सिर पर कांच की बोतल से किए गए वार के बाद उनका सारा प्लान बिगड़ गया। चारों आरोपियों को साथ बिठाकर पूछताछ की गई है। पुलिस सूत्रों से प्राप्त जानकारी अनुसार १५ दिसंबर के रात ही मर्डर किया और शव को उसी दिन आरोपियों ने देर रात ठिकाने लगा दिया।

आज आरोपियों को पुलिस, अदालत में पेश कर उनकी रिमांड मांगेगी क्योंकि वारदात में इस्तेमाल हुई चार चक्का गाड़ी और जहां सिर पर बोतल से वार किया गया उस जगह को तलाशना भी जरूरी है।

बहरहाल फिर्यादी पुलिस उपनि. अमोल सोनवाने की शिकायत पर धारा ३०२, २०१, ३६४ (अ) १२० (ब) सबूत नष्ट करने के षड़यंत्र के तहत जुर्म दर्ज किया गया है। मामले की जांच सापोनि. काड़े कर रहे है।