Published On : Fri, Mar 6th, 2020

गोंदिया:चरित्र संदेह में पत्नी का कत्ल

मां की मौत , पिता जेल में , बेटी हुई अनाथ

गोंदिया: पति -पत्नी का रिश्ता आपसी परस्पर विश्वास की डोर से बंधा होता है जरा सा संदेह किस कदर एक परिवार को तबाह कर देता है इसी की एक बानगी गोंदिया में सामने आई है।

पत्नी के चाल-चलन और चरित्र पर संदेह व्यक्त करते हुए एक शक्की किस्म के निर्दयी पति ने नन्ही बेटी के सामने ही अपनी पत्नी की बेरहमी से पिटाई शुरू करते हुए उसका सिर पकड़कर दीवार पर दे पटका , पत्नी के नीचे गिरते ही आक्रोशित हो उठे पति ने उसका दोनों हाथों से गला दबाकर निर्मम हत्या कर दी।

उक्त हृदयविदारक घटना ५ मार्च के शाम ६ बजे रामनगर थाना क्षेत्र के कुड़वा स्थित इंदिरानगर कॉलेजटोली में घटित हुई।

शव घर पर रख फरार हुआ , पुलिस ने दबोचा पुलिस सूत्रों ने जानकारी देते बताया कि, आरोपी मनोज सावनकर (रा. इंदिरानगर कॉलेजटोली) यह शक्की किस्म का हैै तथा उसे अपनी 28 वर्षीय पत्नी के चरित्र पर संदेह था, जिसके चलते वह आए दिन उससे वादविवाद करते हुए मारपीट करता था।
इसी संदेह की आग में झूलस रहे मनोज ने ५ मार्च गुरूवार के देर शाम सुमन के साथ, बेटी के सामने ही लात-मुक्कों से बेदम पिटाई की और दीवार पर सिर पटकते हुए उसका तब तक गला दबाए रखा , जब तक पत्नी के प्राण न निकले।


घटना को अंजाम देने के बाद मामले पर पर्दा डालने के लिए आरोपी मनोज , पत्नी को एक निजी अस्पताल ले गया जहां डॉक्टरों ने महिला को मृत घोषित कर दिया जिसके बाद आरोपी यह, पत्नी के शव को वापस घर लेकर पहुंचा और लाश वहीं छोड़ फरार हो गया।

घटना की जानकारी मिलते ही रामनगर पुलिस मौके पर पहुंची और स्पॉट पंचनामा पश्‍चात मामले की हर पहलू से जांच पड़ताल शुरू की। खुफिया तंत्र से मिली जानकारी के बाद पुलिस ने १२ घंटों के भीतर ही मनोज को गिरफ्तार कर लिया। पहले तो वह, पत्नी की तबीयत खराब होने से उसकी मृत्यु होने की बात कहकर पुलिस को गुमराह करता रहा, लेकिन कड़ाई से पूछताछ के बाद उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया।

इस संदर्भ में अब रामनगर पुलिस ने आरोपी मनोज झनकलाल सावनकर के खिलाफ अ.क्र. ८७/२०२० के भादंवि ३०२ के तहत मामला दर्ज कर लिया है।
उक्त कार्रवाई पुलिस अधीक्षक मंगेश शिंदे , अप्पर पुलिस अधीक्षक अतुल कुलकर्णी, उपविभागीय पुलिस अधिकारी प्रशांत ढोले के मार्गदर्शन में पुलिस निरीक्षक प्रमोद घोंगे, सपोनि अविनाश मते, संदीप इंगले, पोपट टिडेकर, पो.ह. मरस्कोल्हे, डेविड लाडे, पोसि. हिरापुरे, राठौड़, महिला पोसि तुरकर, चालक पो.ह. तुरकर आदि ने की।

रवि आर्य