Published On : Tue, Dec 10th, 2019

गोंदियाः भाई ने भाई की हत्या की

खून के रिश्ते को खूनी रंजिश में बदल देने वाली वारदात घटी

गोंदिया: भाई के प्यार और उसके अनमोल रिश्ते पर यूं तो जमाने पर कई मिसालें दी जाती है, लेकिन शहर के राधाकृष्ण वार्ड के सुंदरनगर इलाके में खून के रिश्ते को खूनी रंजिश में बदल देनेवाली वारदात उस वक्त सामने आयी जब एक भाई ने अपने भाई के सिर पर पीछे से जाकर कुल्हाड़ी से कातिलाना हमला कर दिया और ३-४ जबरदस्त सिर पर वार करने के बाद वह खून से सन्नी कुल्हाड़ी लेकर जब अपने घर लौटा तो उसकी पत्नी अवाक होकर उसे देख रही थी, जिस पर आरोपी ने कहा आज मेरा बदला पूरा हो गया।

पुलिस सूत्रों से प्राप्त जानकारी अनुसार, भाई-भाई के बीच पुराना वाद था। आरोपी गुनीराम (४८) छोटा होने की वजह से बटवारे में उसके हाथ बहुत कुछ ज्यादा नहीं लगा, इसी सोच के साथ उसके मन में कई वर्ष पूर्व अपने भाई के प्रति खुन्नस शुरू हुई। ६ दिसंबर के दोपहर २ बजे बारिकराव सिताराम वाघाडे (५०) यह घर से कुछ कदम दूर रेल्वे की खुली जगह पर बरगद के पेड़ के नीचे शिव मंदिर के पास बैठा हुआ था, इसी दौरान आरोपी हाथ में कुल्हाड़ी लेकर पीछे से दबे पांव आया और पुरानी रंजिश को लेकर बड़े भाई के सिर पर दनादन वार करते हुए उसे जान से मारने का प्रयास किया।

गंभीर जख्मी अवस्था में बारिकराव वाघाडे को जिला केटीएस अस्पताल लाया गया, स्थिति चिंताजनक होने पर उसे आगे के उपचार हेतु नागपुर मेडिकल कॉलेज रैफर कर दिया गया, जहां उपचार के दौरान आखिरकार उसकी मृत्यु हो गई। पोस्टमार्टम पश्‍चात ९ दिसंबर को लाश घर पहुंची, परिजन फुट-फुटकर शव से लिपट पड़े।

अपने सगे बड़े भाई की हत्या छोटे भाई गुनीराम ने इतने नृशंस तरीके से की कि, मोहल्ले वालों के लिए भी यकीन करना मुश्किल था। इस प्रकरण के संदर्भ में पुलिस ने फिर्यादी खेमराज लोटन येसनसुरे (६८ रा. राधाकृष्ण वार्ड भीमनगर) की शिकायत पर पूर्व में आरोपी गुनीराम पर धारा ३०७ का जुर्म दर्ज किया था, अब बारिकराव की मृत्यु हो जाने के बाद हत्या की धारा ३०२ का जुर्म दर्ज किया गया है।

कुल्हाडी बरामद, ३ दिनों का पीसीआर
इस जघन्य कांड की खबर मिलते ही पुलिस ने आरोपी की धरपकड़ तेज कर दी, जिला पुलिस अधीक्षक मंगेश शिंदे तथा उपविभागीय पुलिस अधिकारी जगदीश पांडे के मार्गदर्शन में पुलिस निरीक्षक बबन आव्हाड़, सहा. पुलिस निरीक्षक कैलाश गवते, सापोनि. नितीन सावंत, राजू मिश्रा, सुबोध बिसेन, छगन विठ्ठले, जागेश्‍वर उईके, नितीन सहारे की पुलिस टीम ने दबिश देते हुए आरोपी को उसके घर से गिरफ्तार कर लिया तथा पूछताछ पश्‍चात उसकी निशानदेही पर घर में छुपाकर रखी गई खून सन्नी कुल्हाड़ी भी पुलिस ने बरामद कर ली। आरोपी को पुलिस ने अदालत में पेश किया, जहां से कोर्ट ने १२ दिसंबर तक उसे पुलिस हिरासत में भेजने का हुकुम सुनाया। पुलिस के मुताबिक हत्यारे पर पहले भी थानों में मारपीट के २-३ मामले दर्ज है।

रवि आर्य