Published On : Tue, Jun 22nd, 2021

गोंदियाः तालाब में डूबने से मां-बेटे की मौत

मवेशी चराने गया बालक घर नहीं लौटा, मां बेटे को खोजने हेतु निकली , वह भी तालाब में जा समायी

गोंदिया: मां का लाड़ला गृहकार्य में हाथ बटाने हेतु मवेशी चराने जंगल गया था, सांझ ढलते मवेशी घर लौट आए, लेकिन बेटा नहीं लौटा लिहाजा मां का दिल पसी़ज गया और वह खोए बालक को ढूंढने निकल पड़ी लेकिन नियती को कुछ ओर ही मंजूर था।

तालाब में गई भैसों को पानी से निकालते वक्त 10 वर्षीय बालक भीतर छिपे गड्ढ़े में जा समाया जिससे उसकी मृत्यु हो गई और अपने मासूम बेटे को ढूंढने तालाब पहुंची मां का पैर भी अंधेरे के चलते तालाब की पायरियों पर फिसल गया और वह भी उसी तालाब के गहरे पानी में जा समायी। उक्त हृदयविदारक घटना का खुलासा 22 जून के सुबह 6.30 बजे हुआ जिसके बाद गांव में मातम पसरा है।

गोरेगांव तहसील के ग्राम हिरापुर (संभाटोला) निवासी 10 वर्षीय बालक सागर हेमराज धुर्वे यह 21 जून के सुबह अपने घर के मवेशी चराने के लिए गांव के कटरे नामक व्यक्ति के खेत तालाब की ओर गया था।

देर शाम मवेशी घर लौट आए लेकिन 10 वर्षीय बालक सागर घर नहीं लौटा जिसे ढूंढने के लिए उसकी मां वच्छलाबाई हेमराज धुर्वे (40) यह खेत तालाब की ओर गई, इस बीच मां खेत का धुर्रे पर से पैर फिसल गया और वह तालाब में जा समायी जिससे डूबने पर उसकी मृत्यु हो गई।

पुलिस सूत्रों ने जानकारी देते बताया, बालक यह खेत तालाब की ओर मवेशी चराने गया था, शाम को वापसी के वक्त भैसियां (मवेशी) तालाब के पानी में उतरी जिन्हें खदेड़कर पानी से बाहर निकालने के लिए बालक तालाब में गया इसी दौरान तालाब की असमतल जमीन के गड्ढ़े में वह जा समाया जिससे डूबने से उसकी मृत्यु हुई।

आज 22 जून मंगलवार के सुबह 6.30 मां-बेटे के शव एक ही तालाब के किनारे आस-पास कुछ दूरी पर दिखायी दिए। यह दुखदः खबर जैसे ही गांव में पहुंची, सर्वत्र शोक का माहौल व्याप्त हो गया।

घटनास्थल पर पहुंची पुलिस ने दोनों शवों का स्पॉट पंचनामा करने के बाद लाशें शवविच्छेदन हेतु अस्पताल भेज दी । पोस्टमार्टम पश्‍चात परिजनों को शव अंतिम संस्कार हेतु सौंपे जाएंगे। बहरहाल इस प्रकरण के संदर्भ में गोरेगांव पुलिस ने मृतका के पति फिर्यादी हेमराज रूपचंद धुर्वे (40 रा. संभाटोला, हिरापुर त. गोरेगांव) की शिकायत पर मर्ग क्र. 18/21 के भादंवि 174 आकस्मिक मौत का मामला पंजीबद्ध किया है। प्रकरण के आगे की जांच पो.ह. साक्षात्कार राखड़े कर रहे है।

रवि आर्य