Published On : Sat, Jun 19th, 2021

गोंदिया: निजी अस्पताल की महिला डॉक्टर के साथ बदसलूकी

पीड़िता की शिकायत पर अस्पताल के एक प्रशासनिक अधिकारी के खिलाफ मामला दर्ज

गोंदिया: निजी अस्पतालों में महिला सुरक्षा के इंतजाम नहीं के बराबर है कमोवेश इसी का नतीजा है कि स्त्रियों के साथ भेदभाव ,उत्पीड़न और गलत व्यवहार करने के मामले देखने को मिलते हैं।

शहर के रामनगर थाना अंतर्गत आने वाले एक निजी अस्पताल की कार्यरत महिला डॉक्टर के साथ बदसलूकी का मामला सामने आया है।

पीड़ित महिला डॉक्टर ने रामनगर थाना कोतवाली पहुंच 15 जून की रात एक बड़े निजी अस्पताल के एक प्रशासनिक अधिकारी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है।

पुलिस ने फरियादी महिला की शिकायत पर आरोपी के खिलाफ धारा 354 (अ ), 354 (ब ), सहकलम 3 (1) ( W ) ( II ) 3, 2 ( Va ) अनुसूचित जाती जमाती अत्याचार प्रतिबंधक कायदा का जुर्म दर्ज किया है।

पुलिस सूत्रों से प्राप्त जानकारी अनुसार – पीड़ित महिला डॉक्टर की शिकायत है कि वहां जो एक प्रशासनिक अधिकारी हैं वह उसे बार-बार कॉल करता था तथा नजदीकियां बढ़ा रहा था , उसका मकसद जो था वह बेहद गलत था और फोन पर बोलता था अगर तुमने ऐसा नहीं किया तो मैं तुमको यहां से निकाल दूंगा ?

उसकी इच्छा पूरी नहीं होने पर उस निजी अस्पताल के प्रशासकीय अधिकारी ने उसे ड्यूटी ( नौकरी ) से निकाल दिया।

बहरहाल आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। चूंकि मामला एट्रासिटी एक्ट से जुड़ा है लिहाज़ा प्रकरण की जांच गोंदिया उपविभागीय पोलीस अधिकारी कर रहे हैं।

रवि आर्य