Published On : Sun, Mar 22nd, 2020

गोंदिया में जनता कर्फ्यू: बाजार सूने, सड़कें वीरान

कोरोना वायरस के खिलाफ भारत में लड़ाई लड़ने हेतु कमर कस ली है , प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर आज पूरे देश में जनता कर्फ्यू है ।
जनता कर्फ्यू का असर देश से लेकर महाराष्ट्र के अंतिम छोर पर बसे गोंदिया जिले में भी देखने को मिल रहा है, व्यापारियों और उनके कर्मचारियों ने रविवार 22 मार्च सुबह 7 बजे से अपने घर पर ही रहने का फैसला किया है।

रविवार अवकाश का दिन होने की वजह से सभी शासकीय और अर्ध शासकीय दफ्तर भी बंद है।


गोंदिया के प्रमुख बाजार में जहां अमूमन दिन भर चहल कदमी और भीड़-भाड़ लगी रहती थी आज ऐसे दुर्गा चौक , गोरेलाल चौक , मेन रोड , गांधी प्रतिमा , चांदनी चौक, जयस्तंभ चौक , नेहरू चौक , स्टेडियम मार्केट जैसे इलाकों में सन्नाटा पसरा है , बाजार की सभी दुकानें बंद और सड़कें वीरान है ।

गोंदिया शहर और जिले के सभी 8 तहसीलों के अलग-अलग इलाकों से आ रही तस्वीरें यह बताने के लिए काफी है कि गोंदिया जिले में जनता कर्फ्यू को शत प्रतिशत प्रतिसाद मिला है।

रेलवे स्टेशन पर इतना सन्नाटा क्यों है भाई…

गोंदिया राइस सिटी में आपका स्वागत है ….जहां यह उद्घोषणा दिनभर कानों में गूंजती है आज उस गोंदिया रेलवे स्टेशन के सभी प्लेटफार्म और बुकिंग ऑफिस पर सन्नाटा पसरा है। बाहर से आने जाने वाले इक्का-दुक्का यात्री भी आज प्लेटफार्म पर दिखाई नहीं दे रहे हैं इसकी एक बड़ी वजह अधिकांश ट्रेनों का रद्द होना भी बताया जा रहा है ।

डिपो में खड़ी है सैकड़ों बसें, यात्रीगण नदारद

कमोवेश यही आलम गोंदिया के मरारटोली स्थित मुख्य बस अड्डे का भी है जहां सैकड़ों की संख्या में बसें डिपो परिसर में ही खड़ी है तथा कंडक्टर और ड्राइवर आराम फरमा रहे हैं और बस यात्रीगण नदारद है। शहर के जयस्तंभ चौक और कुड़वा नाका बस स्टॉप पर भी वीरनी छाईं हैं।

कुल मिलाकर गोंदिया जिले में पीएम मोदी के आव्हान को जनता का समर्थन मिला है और समूचा गोंदिया जिला शत प्रतिशत बंद है।

रवि आर्य