Published On : Wed, Feb 24th, 2021

गोंदिया : बिना मास्क घूमते लापरवाहों से सड़क पर कान पकड़ कर उठक- बैठक करवाई

पुलिस द्वारा चलाई जा रही जनजागृति मुहिम की हो रही सराहना

गोंदिया: कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर महाराष्ट्र में दस्तक दे चुकी है , विदर्भ के अन्य जिलों सहित गोंदिया जिले में भी मामले बढ़ते ही जा रहे हैं तथा जिले में अब तक 185 लोगों की कोरोना वायरस की चपेट में आकर अकाल मौत हो चुकी है‌।

महाराष्ट्र सरकार के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने गाइडलाइन के अनुपालन के निर्देश समस्त जिला कलेक्टरों को दिए हैं वहीं गोंदिया जिलाधिकारी दीपक कुमार मीणा ने भी अब नियमों के सख्ती से पालन हेतु आर्डर जारी किए हैं जिसके बाद पुलिस प्रशासन विशेष रूप से ग्रामीण इलाकों में एक्शन में है लिहाज़ा कोरोना काल में बिना मास्क लगाए लापरवाही पूर्ण तरीके से घूमने वालों के खिलाफ जिला पुलिस प्रशासन ने सख्त कार्रवाई शुरू कर दी है।

कलेक्टर के आदेश का अनुपालन करवाने हेतु ऐसे बेपरवाह युवकों को सड़क अर्जुनी के शेंडा चौराहे पर बीच सड़क कान पकड़ कर उठक- बैठक करवाई गई। इस दौरान यह नज़ारा आने जाने वाले नागरिकों की भीड़ देखती रही वहीं मौके पर मौजूद कुछ लोगों ने इस नज़ारे को मोबाइल के कैमरे में कैद कर लिया।

गौरतलब है कि कोरोना संक्रमण काल में कलेक्टर के आदेश का अनुपालन करवाने हेतु पुलिसकर्मी मुस्तैदी से चौराहों पर डटे हुए हैं वही डुग्गीपार थाने द्वारा स्पीकर लगी पुलिस गाड़ी से जनजागृति हेतु इस बात का उदघोष भी किया जा रहा है कि कृपया बेवजह सड़कों पर ना घूमें , सरकार द्वारा जारी किए गए लॉकडाउन के नियमों का पालन करें साथ ही घर से निकलने पर चेहरे पर मास्क अवश्य पहनें तथा सार्वजनिक स्थानों पर सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखें ‌।

किंतु कुछ लापरवाहों द्वारा मनमानी की जा रही है ऐसे बेवजह बिना मास्क के घूमने वालों को अब सबक सिखाया जा रहा है तथा चौराहे पर कान पकड़ कर उठक -बैठक लगवाई गई। वही बिना मास्क और बिना उचित दस्तावेजों के 50 वाहनों के चालान भी 22 फरवरी सोमवार को बनाए गए।
सड़क अर्जुनी के शेंडा चौक पर पुलिस को सक्रिय देख लापरवाह वाहन चालकों में एक तरह से हड़कंप मच गया वो जुर्माने और उठक- बैठक की कार्रवाई से बचने के लिए रास्ता बदलकर गलियों की ओर निकलते देखे गए।

बिना वजह सड़कों पर घूमते युवकों से की पुलिस ने पूछताछ
चौराहे पर खड़ी पुलिस टीम ने बिना वजह घूमते युवकों से पूछताछ की ओर कोरोना काल के दौरान घरों से निकलने की वजह पूछी जो युवक सही वजह और ठोस जवाब नहीं दे पाए ऐसे युवकों से चौराहे पर उठक बैठक लगवाई गई।

इस तरह से लॉक डाउन की गाइडलाइन का पालन नहीं करने वालों को सबक सिखाने का सिलसिला शाम तक चलता रहा।
मास्क की अनिवार्यता और सोशल डिस्टेंसिंग के पालन के लिहाज़ से शुरू किए गए इस विशेष अभियान की जिले के जागरूक नागरिकों द्वारा सराहना की जा रही हैं।

यह जनजागृति अभियान की विशेष मुहिम डुग्गीपार थाने के पुलिस निरीक्षक सचिन वांगड़े के नेतृत्व में चलाई गई तथा इस अभियान में पुलिस हवलदार बिसेन , पुलिस नायक गावड़कर , संतोष राऊत , जगदीश मेश्राम , महिला पुलिस सिपाही रागिनी निखारे ने हिस्सा लिया।

-रवि आर्य