Published On : Mon, May 6th, 2019

गोंदिया- क्रिकेट सट्टेबाजी के शौक में कई परिवार हुए कंगाल

Advertisement

सुपर ओवर में पड़ा पुलिस का छापा – 4 रेड में 16 बुक्की नामजद

गोंदिया: इंडिया प्रीमियर लीग (आईपीएल) का खुमार विद्यार्थी, युवा वर्ग, कारोबारियों पर सिर चढ़कर बोल रहा है।
झटपट धनवान बनने की लालच में सट्टा लगाने के शौकीन, बुक्कियों के झांसे में आ जाते है और जब एक-दो दांव उलटे पड़ते है तो उस रकम को कवर करने के लिए क्र्रिकेट पर बड़े दांव खेले जाते है और यहीं से पतन का दौर शुरू होता है।

Advertisement
Advertisement

क्रिकेट सट्टेबाजी के शौक में शहर के कई सभ्य घराने आर्थिक तौर पर कंगाल हो चुके है, लेकिन युवाओं की लत है कि, खत्म होने का नाम ही नहीं ले रही।

क्रिकेट सट्टा कारोबार से जुड़े बुक्कियों पर नकेल कसने हेतु जिला पुलिस प्र्रशासन ने भी अब कमर कस ली है। 1 मई को गोंदिया के काटी तथा रेलटोली क्षेत्र में 2 अड्डों पर दबिश देते हुए पुलिस ने 12 बुक्कियों को नामजद किया।
2 मई को मुंबई तथा हैदराबाद के बीच रोमांचक मैच के दौरान जब सुपर ओवर चल रहा था, तब पुलिस ने रात 11 बजे रेड डाली और आईपीएल पर सट्टा स्वीकारते आमगांव के बनगांव इलाके के घर से कैलाश उजवने नामक बुक्की को धरदबोचा गया।

मुंबई- कोलकत्ता मैच पर सट्टेबाजी करते गोंदिया के 2, नागपुर का एक बुक्की नप गया
इस घटना की स्याही अभी सूखी भी नहीं कि, जिला पुलिस अधीक्षक विनीता साहू को गुप्तचर से यह पुख्ता जानकारी हाथ लगी कि, सालेकसा तहसील के ग्र्राम डोगरगांव (सावली) में आईपीएल मैच पर कुछ युवक सट्टे का कारोबार चला रहे है।

पुलिस अधीक्षक के आदेश पर स्थानिक अपराध शाखा दल के निरीक्षक दिनकर ठोसरे के मार्गदर्शन में पुलिस टीम ने रविवार 5 मई के रात डोंगरगांव (सावली) में दबिश दी तथा मुंबई विरूद्ध कोलकत्ता के बीच चल रहे आईपीएल टि-ट्वेंटी मैच में क्र्रिकेट पन्टरों से खायवाली की रकम स्वीकार करते 3 बुक्कियों को रंगेहाथों धरदबोचा।
पुलिस ने क्रिकेट के सट्टे पर सौदा स्वीकारते तथा लगवाड़ी काटते हुए मनोज रत्नाकर (रा. डोंगरगांव), विनायक गोहडे (रा. आमगांव) को धरदबोचा तथा प्रारंभिक पूछताछ में उन्होंने नागपुर के क्रिकेट बुक्की आकाश के लिए सट्टेबाजी का व्यापार करना स्वीकार किया, लिहाजा जिसके सर परस्ती में यह सट्टेबाजी का गौरखधंधा चल रहा था एैसे आकाश नामक बुक्की पर भी सालेकसा थाने में धारा 4, 5 मुंबई जुगार एक्ट सहकलम 109 के तहत जुर्म दर्ज किया गया है।

पुलिस ने हिरासत में लिए गए 2 बुक्कियों के पास से 5 स्मार्ट मोबाइल फोन से जुड़ी लाइन पेटी (डिब्बा) , टेपिंग सिस्टम, एक एलईडी टीवी, डिश सेटअप बॉक्स, मॉडम, हॉटलाइन कनेक्शन, रजिस्टर, केल्क्यूलेटर, पेन इत्यादि साहित्य जब्त किया है।

पुलिस की मानें तो इस खेल में ओर भी कुछ गिरफ्तारियां हो सकती है? बहरहाल इस सफलतापर्वूक की गई छापामार कार्रवाई के लिए पुलिस अधीक्षक विनीता साहू ने एलसीबी निरीक्षक दिनकर ठोसरे, सापोनि प्रमोद बघेले, सउपनि विजय रहांगडाले, सुखदेव राऊत, चंद्रकांत करपे, पो.ह, भुवनलाल देशमुख, पोसि विनोद गौतम, मपोसि सुजाता गेडाम का अभिनंदन किया है।

– रवि आर्य

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement