| | Contact: 8407908145 |
    Published On : Mon, Jan 25th, 2021
    nagpurhindinews | By Nagpur Today Nagpur News

    गोंदिया:नक्सल इलाके से सर्च ऑपरेशन में मिली विस्फोटक सामग्री

    जंगल में जमीन से निकले ड्रम में मिला पुराने नोटों का खजाना

    गोंदिया। महाराष्ट्र- छत्तीसगढ़ तथा आंध्रप्रदेश के सीमावर्ती इलाके से सटे रेस्टजोन के नाम से प्रसिद्ध जंगल परिसर में एक बार फिर नक्सली गतिविधियां तेज हो गई है। लगातार कुछ समय से भू-सुरंग के भीतर छिपाकर रखे गए विस्फोटक सामग्री का बरामद होना इस बात का संकेत देता है कि, नक्सलियों के इरादे किसी बड़ी हिंसक वारदात को अंजाम देना है।

    पुलिस पार्टी पर घात लगाकर हमला करने से उद्देश्य से नक्सल प्रभावित केशोरी थाना क्षेत्र के ग्राम उमरपायली से जुनेवानी मार्ग पर पहाड़ी से सटे जंगल परिसर में नक्सलियों द्वारा विस्फोटक सामग्री छुपाकर रखी गयी थी, लेकिन समय रहते इसकी भनक जिला पुलिस प्रशासन को लग गई और सर्च ऑपरेशन चलाकर विस्फोटक सामग्री को ढूंढ निकाला गया, जिससे नक्सलियों के मनसूबों पर एक बार फिर पानी फिर चुका है।

    24 जनवरी रविवार को जिला पुलिस अधीक्षक विश्‍व पानसरे इन्हें खबरी से गोपनीय जानकारी मिली जिसके बाद जिला पुलिस प्रशासन हरकत में आ गया और पुलिस अधीक्षक विश्‍व पानसरे, अपर पुलिस अधीक्षक अतुल कुलकर्णी, उपविभागीय पुलिस अधिकारी जालिंदर नालकुल के मार्गदर्शन में सी-60 नवेगांवबांध के कमांडो पथक, केशोरी पुलिस टीम, बी.डी.डी.एस पथक की ओर से ग्राम उमरपायली से जुनेवानी मार्ग के पहाड़ी से सटे जंगल परिसर में सर्च ऑपरेशन चलाया गया।

    विस्फोटक ,भरमार बंदूक, कैश बरामद

    इलाके का बारिकी से निरीक्षण करने पर जंगल परिसर में दो बड़े पेड़ों के बीच पत्थरों के पीछे छुपाकर रखा गया एक प्लास्टिक ड्रम दिखायी दिया जिसपर बीडीडीएस पथक व श्‍वान पथक की सहायता से सर्तकता के साथ ड्रम को बाहर निकाला गया तो उसके भीतर डेढ़ से 2 किलो युरिया खाद, 50 ग्राम निरमा पाऊडर, एक स्विच बटन, लाल रंग की इलेक्ट्रिक वायर, पुराने 500 के नोट (कीमत 4 लाख 40 हजार रूपये), 10 ग्राम सल्फर (कारपेट), कापूरवडी, एक पुरानी सिंगल बोर की भरमार बंदूक आदि विस्फोटक सामग्री पायी गयी।

    उक्त सामग्री को जब्त करते हुए इस प्रकरण के संदर्भ में केशोरी थाने में अपराध क्र. 09/2021 के भांदवि 307, सहकलम 17, 18, 20, 23, यु.ए.पी.ए. सहकलम 4, 5, भारतीय विस्फोटक अधिनियम, सहकलम 4, 5, भारतीय हथियार कायदा के तहत नक्सलियों के खिलाफ अपराध पंजीबद्ध किया गया है।

    उक्त कार्रवाई जिला पुलिस अधीक्षक विश्‍व पानसरे, अपर अधीक्षक अतुल कुलकर्णी, उपविभागीय पुलिस अधिकारी जालिंदर नालकुल, केशोरी थाना प्रभारी संदीप इंगले, उपनि. मुंडे, पोउपनि नागरे सहित कमांडो पथक, बीडीडीएस पथक के अधिकारी व कर्मचारियों ने की।

    गौरतलब है कि, जिला पुलिस अधीक्षक विश्‍व पानसरे इन्हें नक्सल क्षेत्र में फील्ड पर काम करने का व्यक्तिगत अनुभव है।

    17 सितंबर 2020 को उन्हें गोंदिया पुलिस अधीक्षक पद की जिम्मेदारी सौंपी गई थी उनके पदभार संभालने के बाद विशेषतः जिले के नक्सल प्रभावित इलाकों में कई सर्च ऑपरेशन चलाकर माओवादियों के खतरनाक मंसूबों को नाकाम करते हुए बड़ी मात्रा में विस्फोटक सामग्री बरामद की गई है इस मामले में पुराने 500-500 के नोटों का इतनी बड़ी मात्रा में बरामद होना इस बात की ओर इशारा करता है कि क्षेत्र में सक्रिय नक्सली दलम कहीं ना कहीं आर्थिक तौर पर भी अब मजबूत हो चले हैं।

    -रवि आर्य

    Trending In Nagpur
    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145