Published On : Wed, Mar 3rd, 2021

गोंदिया: नक्सल इलाके में सर्च ऑपरेशन दौरान विस्फोटक सामग्री बरामद

नक्सलियों ने छुपा रखे थे 9 जिंदा डेटोनेटर , 3 जिलेटिन छड़

गोंदिया: अतिसंवेदनशील नक्सल प्रभावित गोंदिया जिले की सरहदी सीमाओं पर जिला पुलिस प्रशासन की पैनी नजर है और पुलिस टीम हर संदिग्ध नक्सल गतिविधियों पर अपनी नजर बनाए हुए है।

केशोरी पुलिस, सी-60 कमांडो व बीडीडीएस पथक ने आज 3 मार्च को संयुक्त कार्रवाई करते हुए नक्सलियों द्वारा किसी बड़ी हिंसक वारदात को अंजाम देने के उद्देश्य से छिपाकर रखी गई विस्फोटक सामग्री को खोज निकाला जिससे नक्सलियों के मंसूबों पर एक बार फिर पानी फिर चुका है।

दरअसल पुलिस विभाग को इस बात की पुख्ता जानकारी मिली कि, जिले के केशोरी थाना क्षेत्र अंतर्गत आने वाले ग्राम सोयगांवटोली जंगल परिसर में पुलिस पार्टी पर हमला करने के उद्देश्य से नक्सलियों द्वारा विस्फोटक सामग्री छुपाकर रखी गयी है।
सूचना पाते ही पुलिस प्रशासन हरकत में आ गया और सी-60 देवरी के कमांडो पथक, केशोरी पुलिस, सशस्त्र दूरक्षेत्र भरनोली के पुलिस अधिकारी, बीडीडीएस पथक की टीम सुरक्षा उपकरणों के साथ सर्च ऑपरेशन के लिए रवाना हुई। सर्च ऑपरेशन के दौरान सोयगांवटोली जंगल परिसर में नाले के भीतर एक जर्मन का डिब्बा संदिग्ध अवस्था में पाया गया।

बीडीडीएस पथक तथा श्‍वान पथक की मदद से बारिकी से निरीक्षण करते हुए डिब्बे को बाहर निकाला गया, जिसके भीतर 9 जिंदा डिटोनेटर, 3 जिलेटीन क्षण, रसायन मिश्रीत रेती जैसा विस्फोटक सामग्री बरामद की गई।

उक्त सामग्री को जब्त करते हुए इस संदर्भ में केशोरी थाने में धारा 4, 5 भारतीय विस्फोटक पदार्थ अधिनियम के तहत अज्ञात नक्सलियों के खिलाफ जुर्म दर्ज कर लिया गया है। आगे की जांच उपविभागीय पुलिस अधिकारी जालींदर नालकुल के मार्गदर्शन में जारी है।

जिला पुलिस अधीक्षक विश्‍व पानसरे, अपर पुलिस अधीक्षक अतुल कुलकर्णी, उपविभागीय पुलिस अधिकारी जालींदर नालकुल के मार्गदर्शन में इस कार्रवाई को अंजाम थाना प्रभारी संदीप इंगले, पोउपनि ठवकर, मारंग, जीवन पाटिल तथा सी-60 कमांडों, बीडीडीएस पथक गोंदिया की ओर से दिया गया।

-रवि आर्य