Published On : Thu, Jun 4th, 2020

गोंदियाः निजी अस्पतालों में सरकार द्वारा निर्धारित दरों पर होगा कोरोना मरीजों का इलाज

कलेक्टर की अध्यक्षता में हुई आईएमए डॉक्टरों की बैठक

गोंदिया: महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है, एैसे में मरीजों की बढ़ती संख्या और उनके योग्य उपचार के लिए वेन्टीलेटर उपलब्ध कराना यह सरकार और जिला प्रशासन की जिम्मेदारी है।

चूंकि सरकारी अस्पतालों में बिस्तरों की संख्या कम होने से भविष्य मेंं अगर यह संक्रमण विकराल रूप लेता है तो उस स्थिति से निपटने के लिए सरकार ने अभी से तैयारी शुरू कर दी है।

इसी के तहत राज्य सरकार ने मुंबई नर्सिंग अधिनियम 2006 के तहत 21 मई 2020 को दिशा निर्देश जारी किए है तद्नुसार निजी अस्पतालों में उपलब्ध बेड का 80 प्रतिशत बिस्तर आरक्षित रखना जरूरी है इसका कोरोना उपचार के लिए उपयोग किया जाएगा।

निजी अस्पतालों में रिजर्व किए गए बेड पर सरकार द्वारा निश्‍चित की गई दर पर मरीजों का इलाज करना बंधनकारी होगा। उपचार खर्च के लिए शुल्क और संबंधित नियम और शर्ते सरकार द्वारा निर्धारित की गई।

इसी संदर्भ में मेडिकल असोिएशन ऑफ इंडिया (आईएमए गोंदिया) की एक बैठक जिलाधिकारी कार्यालय में कलेक्टर डॉ. कांदबरी बलकवड़े की अध्यक्षता में हुई।

इस अवसर पर जि.प. मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. राजा दयानिधी, पुलिस अधीक्षक मंगेश शिंदे, सहायक कलेक्टर रोहन घुगे, मेडिकल कॉलेज अधीक्षक डॉ. विनायक रूखमोड़े, प्रभारी जिला सर्जन डॉ. हिमंत मेश्राम, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. श्याम निमगडे, जिला प्रशासन अधिकारी विनोद जाधव, आईएमए शाखा अध्यक्ष डॉ. प्रणिता चटणवीस, डॉ. चंद्रशेखर राणा, डॉ. विनय पांडे, डॉ. राजेंद्र जैन, डॉ. जयंती पटले प्रमुख रूप से उपस्थित थे।

1172 बिस्तर और 41 वेन्टीलेटर उपलब्ध
जिला शल्य चिकित्सक डॉ. हिंमत मेश्राम ने जानकारी देते बताया कि, जिले के इन 46 निजी अस्पतालों में 1172 बिस्तर तथा 41 वेंटीलेटर उपलब्ध है।
बैठक में उपस्थित आईएमए अध्यक्ष और सचिव को जिलाधिकारी डॉ. कांदबरी बलकवड़े ने कोविड और गैरकोविड के उपचार के लिए निजी अस्पतालों में निर्धारित दरों पर तख्तीयां दिखाने के निर्देश दिए।

उन्होंने कहा- मरीजों का इलाज सरकारी शुल्क के अनुसार किया जाएगा। प्रत्येक पंजीकृत निजी अस्पताल में एक नोडल अधिकारी भी नियुक्त किया जाएगा , यदि इस संबंध में कोई समस्या है तो संबंधित नागरिक नोडल अधिकारी के पास शिकायत दर्ज कर सकता है। निजी अस्पतालों में प्रत्येक मरीज की दैनिक जानकारी गूगल पर फार्म भरकर देने की जिम्मेदारी आईएमए सचिव डॉ. राणा को दी गई।

इस गूगल फार्म में दैनिक आधार पर रिजर्व बेड की जानकारी भरी जएगी, प्रत्येक अस्पताल में उपलब्ध बिस्तरों की सटीक संख्या की जानकारी प्रतिदिन सुबह 10 बजे प्राप्त की जाएगी। सरकार के दिशा-निर्देर्शों का सख्ती से पालन हो इसके लिए जिला सर्जन समय-समय पर कलेक्टर को सूचना प्रस्तुत कर समन्वयक रूप से काम करेंगे।

आईएमए अध्यक्ष डॉ. प्रणिता चिटणवीस, सचिव डॉ. चंद्रशेखर राणा को ठीक से सरकार द्वारा जारी किए गए आदेश पर अमल करने के निर्देश भी दिए गए।

इलाज हेतु गोंदिया के 46 निजी अस्पतालों का चयन
कोविड और गैरकोविड उपचार के लिए गोंदिया के जिन 46 अस्पतालों का चयन किया गया है

उनमें बी.जे हास्पीटल (गणेशनगर), एक्सीडेंट हॉस्पीटल (गणेशनगर), जयपुरिया नर्सिग होम (सिविल लाइन), गोंदिया केयर हॉस्पीटल (सिविल लाइन), कोलते नर्सिंग होम (गणेशनगर), सेंटर हॉस्पिटल एंड क्रिटीकल केयर (गड्ढ़ाटोली), के.एम.जे. मेमोरियल हॉस्पीटल (शास्त्री वार्ड), पटेल नर्सिंग होम (रिंग रोड), बालाजी नर्सिग होम (गणेशनगर), आर्शीवाद हास्पीटल (कुड़वा नाका), अनन्या मेटर्निटी एंड सर्जीकल हॉस्पिटल (सिविल लाइन), रन्बो हॉस्पिटल (अंगुर बगीचा), आध्या क्लीनिक एंड चाईल्ड केयर हॉस्पिटल (रिंग रोड), राणा हॉस्पीटल (शीतल माता मंदिर निकट), आई केयर क्लीनिक (कुड़वा नाका), भगत आई एंड ईएनटी हॉस्पीटल (अवंती चौक, रिंग रोड), सत्यम आर्थो हॉस्पीटल (कन्हारटोली), ओम हॉस्पीटल (पंचबुद्धे कॉम्पलेक्स), कल्पतरू नर्सिग होम (गणेशनगर), अवीन हॉस्पीटल (देशबंधु वार्ड), डॉ. कार्लेकर हॉस्पीटल (मामा चौक), सूर्या नर्सिंग होम (पाल चौक), ब्राम्हणकर हॉस्पीटल (मामा चौक), डॉ. रत्नापारखी नर्सिंग होम (न्यू लक्ष्मीनगर), सहयोग हॉस्पीटल (रिंग रोड), मिरावंत हॉस्पीटल (कुड़वा नाका), राधे कृष्ण हॉस्पीटल (हड्डीटोली), रिलायंस हॉस्पीटल (गोरेगांव रोड), न्यू गोंदिया हॉस्पीटल (गणेशनगर), गोंदिया सिटी हॉस्पीटल (गणेशनगर), आस्ट्रीयन ट्रामा सेंटर (फुलचुर), ईपीऑन हॉस्पीटल (शास्त्रीवार्ड), गायत्री हॉस्पीटल (गणेशनगर), अग्रसेन हॉस्पीटल (गणेशनगर), श्री नेत्रालय (रेलटोली), गुप्ता नर्सिंग होम (टी.बी. हॉस्पीटल), वैष्णवी नर्सिंग होम (रामनगर), तुरकर नर्सिंग होम (सिविल लाइन), आयुष हॉस्पीटल (रेलटोली), अग्रवाल हॉस्पीटल (गणेशनगर), श्री नर्सिंग होम (रेलटोली), चौधरी हॉस्पीटल (रेलटोली), आधार नर्सिंग होम (गणेशनगर), संजीवनी नर्सिंग होम (गोविंदपुर), डॉ भुस्कुटे हॉस्पीटल (आमगांव), शुश्रूषा नर्सिंग होम डॉ. कुदडे (गड्ढ़ाटोली) का समावेश है।

रवि आर्य