Published On : Mon, Jul 20th, 2020

गोंदिया: चौसा में ताश और जुआ की लत ने किया बर्बाद , 8 गिरफ्तार

यादव चौक के सतनामी मोहल्ले के अड्डे पर छापा

गोंदिया– चौसा में ताश और जुआ की लत का चलन तेजी से बढ़ रहा है। हर दस ताश की टोली में से एक टोली ताश पर आधारित चौसा जुआ जैसे निकृष्ट खेलों पर दांव लगाकर अपना जीवन बर्बाद कर रही है।

चीन से आयातित यह खेल गर सिर्फ मनोरंजन तक सीमित रहता तो इतनी परेशानी की बात नहीं होती। ताश आधारित चौसा जुआ एक ऐसा जुआ है जो जुआरी के मन में यह झूठी आशा पैदा करता है कि, एक दिन उसे ढेर सारा पैसा मिलेगा और उसका जीवन अप्रत्याशित लाभ से आनंदित हो जाएगा।

चौसा जुआ खेलने वाले जुआरियों के परिवार वाले भी खासे परेशान है, खेलने के क्रम में तू-तू, मैं-मैं पर उतरकर आपस में उलझन और अश्‍लील शब्दों का प्रयोग ऐसे खेल में कई विवाद का कारण बनता है।

शहर के एक इलाके में जुआ अड्डे बंद कमरे में चौसा जुआ का खेल, खेले जाने की पुख्ता जानकारी मिलने पर लोकल क्राइम ब्रांच की टीम ने रविवार 19 जुलाई के रात 11.30 बजे शहर के यादव चौक स्थित सतनामी मौहल्ले के अड्डे पर दबिश दी।

बंद मकान के भीतर 8 जुआरी बैठकर हारी-जीती का दांव लगा रहे थे। मौके से आरोपी सुशांत (31 रा. कृष्णापुरा वार्ड), भावन (40 रा. सिंधी कॉलोनी), नजीर (42 रा. रामनगर), प्रशांत (33 रा. भीमनगर), शुभम (25 रा. भीमनगर), मनिष (27 रा. कृष्णापुरा वार्ड), गोपाल (22 रा. श्रीनगर) की धरपकड़ करते हुए आरोपियों के पास से 23 हजार 940 रूपये नगद रकम तथा 1 मोटर साइकिल सहित कुल 63 हजार 940 रूपये का माल बरामद किया गया।

पकड़े गए सभी 8 जुआरियों के खिलाफ गोंदिया शहर थाने में महाराष्ट्र जुगार कानून के तहत अपराध दर्ज किया गया है।

उक्त कार्रवाई जिला पुलिस अधीक्षक मंगेश शिंदे के मार्गदर्शन में स्थानिक अपराध शाखा दल के पुलिस निरीक्षक रमेश गर्जे, उपनिरीक्षक तेजेंद्र मेश्राम, पुलिस कर्मी सुखदेव राऊत, विजय रहांगडाले, लिलेंद्रसिंह बैस, भुवनलाल देशमुख, चितरंजन कोडापे, रेखलाल गौतम की टीम द्वारा की गई।
रवि आर्य