Published On : Thu, Jan 30th, 2020

गोंदियाः भाई के कत्ल में भाई गिरफ्तार

मामूली बात को लेकर छिड़े फसाद में गला घोंट हत्या कर दी

गोंदिया: एक घर में एक छत के नीचे रहने वाले भाई-भाई के बीच आपस में तू-तू , मैं- मैं और झगड़ा फसाद होना, सामान्य सी बात है लेकिन पानी देने की मामूली सी बात को लेकर घर में छिड़े कलह में किसी की जान चली जाएगी , यह तो किसी ने सोचा भी न था। घटना बुधवार २९ जनवरी शाम ७ बजे के दरमियान गोंदिया ग्रामीण थाना अंतर्गत आने वाले ग्राम खमारी में घटित हुई।

गणेश बुधराम मेंढे (३८) यह खेत मजदूरी से घर लौटा और अपने भाई सुरेश की पत्नी अर्थात भाभी से पानी देने को कहा जिसपर दोनों के बीच शाब्दिक बहस छिड़ी। भाभी ने भी पलटवार कर जवाब दिया तो आक्रोशित जेठ ने उसपर हाथ उठा लिया। भाभी को चाटा मारने की बात को लेकर घर में मौजुद छोटे भाई महेश बुधराम मेंढे को गुस्सा आ गया और दोनों भाई एक-दूसरे पर चीखने-चिल्लाने लगे।

मामला धक्का-मुक्की तक जा पहुंचा और छोटे भाई महेश मेंढे ने बड़े भाई गणेश मेंढे को उठाकर जमीन पर दे पटका और उसकी छाती पर बैठ गया तथा आवेश में आकर उसका गला तब तक दबाए रखा, जब तक उसके प्राण पखेरू नहीं उड़ गए। बड़े भाई की गला घोंटकर हत्या करने के बाद छोटा भाई महेश मेंढे यह फरार हो गया।

घटना की जानकारी पुलिस स्टेशन को दी गई। गोंदिया ग्रामीण थाने के प्रभारी प्रदीप अतुलकर और उनकी मौके पर पहुंची तथा पुलिस ने तत्काल आरोपी की खोजखबर शुरू की और गुप्त सूचना के आधार पर गांव के मौहल्ले में दबिश देते हुए वारदात के महज एक घंटे बाद ही आरोपी को पुलिस ने धरदबोचा।


बड़े भाई की हत्या के जुर्म में छोटे भाई के जेल चले जाने के बाद मेंढे परिवार के घर मातम पसरा हुआ है।

सूत्रों से प्राप्त जानकारीनुसार बुधराम मेंढे को ४ बेटे है जिनमें से अब एक की मृत्यु हो गई और एक सलाखों के पीछे पहुंच चुका है, एैसी घटनाओं से यह सबक मिलता है कि, अगर इंसान अपने गुस्से पर काबू न करें तो किस हद तक वह भयावह हो सकता है ? बहरहाल अब इस प्रकरण के संदर्भ में पुलिस ने फिर्यादी मनोहरसिंग रूपसिंग चौहान (रा. खमारी) की मौखिक शिकायत पर हिरासत में लिए गए आरोपी महेश बुधराम मेंढे के खिलाफ धारा ३०२ हत्या का जुर्म दर्ज किया है। प्रकरण की जांच सहायक पुलिस निरीक्षक अभिजीत भुजवल कर रहे है।

रवि आर्य