Published On : Mon, Mar 1st, 2021

गोंदिया: कोरोना वायरस से सुरक्षित रहें , टीका लगाएं

सरकारी केंद्रों पर कोरोना वैक्सीनेशन मुफ्त

गोंदिया देश में कोरोना टीकाकरण का तीसरा चरण आज सोमवार 1 मार्च से शुरू हो चुका है , इस चरण में 60 साल या इससे अधिक उम्र के बुजुर्गों को वैक्सीन देना शुरू कर दिया गया है ‌ साथ ही 45 वर्ष से अधिक उम्र के उन लोगों को भी वैक्सीन दी जाएगी जिन्हें कोई गंभीर बीमारी है।

जो लोग सरकारी अस्पतालों में वैक्सीन लगवाने जाएंगे उन्हें टीका मुफ्त ( फ्री ) में लगाया जाएगा वहीं निजी केंद्रों पर टीकाकरण की इजाजत के बाद सरकार ने इसकी कीमत भी तय कर दी है । निजी अस्पताल कोरोना के टीके की एक डोज़ के लिए अधिकतम 250 रुपए ले सकेंगे। गौरतलब है कि गोंदिया जिले में 16 जनवरी से वैक्सीनेशन की मुहिम शुरू की गई इस प्राथमिकता समूह में 90% डॉक्टर्स , स्टॉफ और स्वास्थ्य कर्मचारियों को पहला टीका लग चुका है तथा 28 दिनों के बाद दूसरी खुराक भी बड़ी संख्या में दी जा चुकी है।

दूसरे फेज में कोरोना वारियर्स को टीका लगाया जा रहा है जिसमें पुलिसकर्मी , मीडियाकर्मी और सफाई कर्मी तथा छूटे हुए अन्य स्वास्थ्य कर्मी शामिल है।

विशेष उल्लेखनीय के महाराष्ट्र- केरल जैसे राज्यों में कोरोना की दूसरी लहर शुरू होने से मामले फिर से बढ़ने लगे हैं विदर्भ सहित महाराष्ट्र के अन्य जिलों में राज्य सरकार ने पाबंदियों को बढ़ा दिया है।

प्राइवेट अस्पतालों में 250 रुपए में लगेगा कोरोना का टीका
सरकारी केंद्रों पर कोरोना वैक्सीनेशन जहां पूरी तरह निशुल्क ( फ्री) होगा वहीं निजी अस्पतालों में टीकाकरण की कीमत सरकार ने तय कर दी है।

प्राइवेट हॉस्पिटल कोविड-19 के टीके के प्रति खुराक के लिए अधिकतम 250 रूपए तक शुल्क सकते हैं जिसमें 150 रुपए टीके की कीमत और 100 रुपए सेवा शुल्क ( सर्विस चार्ज ) शामिल है‌।
सभी प्राइवेट अस्पतालों की लिस्ट स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ओर राष्ट्रीय प्राधिकरण की वेबसाइट पर अपलोड कर दी गई है ‌।
प्रधानमंत्री स्वास्थ्य योजना सहित राज्य सरकार के जीवनदायिनी स्वास्थ्य योजनाओं से जुड़े प्राइवेट अस्पतालों को ही तीसरे चरण के वैक्सीनेशन में शामिल किया गया है।

पीएमजेवाय द्वारा जो गोंदिया जिले की अधिकृत लिस्ट जारी की गई है उसमें तीन अस्पतालों को अनुमति होगी।
जिनमें बालाजी नर्सिंग होम (एलआईसी ऑफिस निकट गणेश नगर ) के डॉ. विद्यासागर मोहन , गोंदिया केयर हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर ( सिविल लाइन गोंदिया ) डॉ. दीपक बाहेकर तथा डॉक्टर ब्राह्मणकर हॉस्पिटल ( मामा चौक, सिविल लाइन ) के डॉ. नोविल ब्रह्मणकर का समावेश है।

खास बात यह है कि इन निजी अस्पतालों को नेशनल को-विन टेक्नोलॉजी प्लेटफॉर्म के तहत निर्धारित सभी नियमों का सख्ती से पालन करना होगा , वही क्वालिटी , सेफ्टी , पर्याप्त जगह , कोल्ड चैन का इंतजाम करना होगा।
इसके साथ ही यहां वैक्सीनेटरस , पर्याप्त संख्या में कर्मचारी के साथ वैक्सीनेशन के बाद किसी भी मुश्किल हालात से निपटने के लिए सभी जरूरी इंतजाम करने होंगे।

सरकारी केंद्रों पर कोरोना वैक्सीनेशन मुफ्त मिलेगा इसके लिए शासकीय अस्पतालों के जिन सेंटर्स में टीकाकरण मुहिम जारी है उनमें जिला केटीएस अस्पताल , बीजीडब्ल्यू महिला जिला अस्पताल , तिरोड़ा तथा देवरी के उप जिला अस्पताल , गोरेगांव, अर्जुनी मोरगांव, आमगांव , सड़क अर्जुनी का तहसील स्वास्थ्य केंद्र तथा खमारी और रजेगांव के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का समावेश है।

अपने पसंद के केंद्र को चुनने की सुविधा
टीके के लाभार्थी को-विन 2.0 पोर्टल डाउनलोड कर और आरोग्य सेतु ऐप के जरिए अपना पंजीकरण करा सकते हैं।
सुबह 9 बजे को-विन पोर्टल आम लोगों के रजिस्ट्रेशन के लिए खुल जाएगा तथा इन डिजिटल प्लेटफॉर्म पर उन्हें नजदीकी सरकारी एवं निजी टीकाकरण हॉस्पिटल एवं वहां उपलब्ध तारीख व समय की जानकारी मिल जाएगी और लाभार्थी अपने पसंद के सेंटर को भी चुन सकते हैं इसके साथ-साथ टीकाकरण केंद्र पर पहुंचकर रजिस्ट्रेशन कराने की सुविधा भी दी गई है। ‌

60 साल या इससे अधिक उम्र के बुजुर्ग लाभार्थियों को अपना तस्वीर युक्त पहचान पत्र आधार कार्ड , पैन कार्ड , मतदाता पहचान पत्र ( वोटर आईडी कार्ड ) मैं से कोई एक आईडी प्रूफ लेकर टीकाकरण केंद्र पर जाना होगा ‌ वहीं किसी बीमारी से ग्रसित 45 से 59 उम्र के लाभार्थी को गंभीर बीमारी से संबंधित प्रमाण पत्र भी साथ लाना होगा जिस पर पंजीकृत चिकित्सक के हस्ताक्षर होने चाहिए , सरकारी अस्पतालों में टीका निःशुल्क लगाया जाएगा‌।

-रवि आर्य